बिकरू गांव कांड: विकास दुबे का साथी रामू गिरफ्तार, वारदात के बाद से हुआ था फरार

    ramu
    बिकरू गांव कांड: विकास दुबे का साथी रामू गिरफ्तार, वारदात के बाद से हुआ था फरार

    कानपुर। कानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी विकास दुबे के साथ रामू वाजपेई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी वारदात के बाद से फरार हो गया था। पुलिस का कहना है कि आरोपी की निशादेही पर रायफल बरामद हुई है। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह दो जुलाई की रात वारदात के बाद से गांव छोड़कर फरार हो गया था, जिसके बाद पुलिस से छुपकर रहता था।

    Bikeru Village Scandal Vikas Dubeys Partner Ramu Arrested Absconding Since The Incident :

    पुलिस ने बताया कि रामू को रविवार रात सुज्जा निवादा गांव के मोड़ के पास से पकड़ा गया है। रामू अपने किसी करीबी से मिलने जा रहा था। पूछताछ के बाद उसकी निशानदेही पर तालाब के पास स्थित बांस की कोठी से एक रायफल बरामद कर ली है। पुलिस का दावा है कि रामू ने इसी असलहे से पुलिस पर हमला किया था। हमले के बाद रायफल बांस की कोठी में छिपाकर फरार हो गया था।

    बता दें कि, विकास दुबे ने अपने गुर्गों की मदद से बीते दो जुलाई को पुलिस पर हमला बोल दिया था। चारों ओर से घेराबंदी कर 8 पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी। घटना के बाद पुलिस ने विकास दुबे समेत छह आरोपियों को मुठभेड़ में मार गिराया लेकिन कई आरोपी अभी तक फरार थे। पुलिस ने इस मामले में अब तक 22 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है वहीं, चार आरोपी कोर्ट में सरेंडर कर चुके हैं।

    कानपुर। कानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी विकास दुबे के साथ रामू वाजपेई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी वारदात के बाद से फरार हो गया था। पुलिस का कहना है कि आरोपी की निशादेही पर रायफल बरामद हुई है। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह दो जुलाई की रात वारदात के बाद से गांव छोड़कर फरार हो गया था, जिसके बाद पुलिस से छुपकर रहता था। पुलिस ने बताया कि रामू को रविवार रात सुज्जा निवादा गांव के मोड़ के पास से पकड़ा गया है। रामू अपने किसी करीबी से मिलने जा रहा था। पूछताछ के बाद उसकी निशानदेही पर तालाब के पास स्थित बांस की कोठी से एक रायफल बरामद कर ली है। पुलिस का दावा है कि रामू ने इसी असलहे से पुलिस पर हमला किया था। हमले के बाद रायफल बांस की कोठी में छिपाकर फरार हो गया था। बता दें कि, विकास दुबे ने अपने गुर्गों की मदद से बीते दो जुलाई को पुलिस पर हमला बोल दिया था। चारों ओर से घेराबंदी कर 8 पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी। घटना के बाद पुलिस ने विकास दुबे समेत छह आरोपियों को मुठभेड़ में मार गिराया लेकिन कई आरोपी अभी तक फरार थे। पुलिस ने इस मामले में अब तक 22 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है वहीं, चार आरोपी कोर्ट में सरेंडर कर चुके हैं।