1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Bikru Case : बिकरू कांड के बाद निलंबित डीआईजी समेत दो IPS बहाल, जारी रहेगी विभागीय जांच

Bikru Case : बिकरू कांड के बाद निलंबित डीआईजी समेत दो IPS बहाल, जारी रहेगी विभागीय जांच

Bikru Case :  कानपुर में हुए बिकरू कांड (Bikru Case) के बाद निलंबित किए गए यूपी शासन ने रविवार को दो आईपीएस अधिकारियों को बहाल कर दिया है। जिनको बहाल डीआईजी अनंत देव (DIG Anant Dev) और गाजियाबाद एसएसपी पद (Ghaziabad SSP Post) से निलंबित किए गए पवन कुमार (Pawan Kumar) का नाम शामिल है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Bikru Case :  कानपुर में हुए बिकरू कांड (Bikru Case) के बाद निलंबित किए गए यूपी शासन ने रविवार को दो आईपीएस अधिकारियों को बहाल कर दिया है। जिनको बहाल डीआईजी अनंत देव (DIG Anant Dev) और गाजियाबाद एसएसपी पद (Ghaziabad SSP Post) से निलंबित किए गए पवन कुमार (Pawan Kumar) का नाम शामिल है।

पढ़ें :- Bikru Case : विकास दुबे मुठभेड़ मामले की रिपोर्ट होगी सार्वजनिक, सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये निर्देश

जानकारी के अनुसार दोनों अधिकारियों की विभागीय जांच (Departmental Investigation) जारी रहेगी। बता दें कि अनंत देव (Anant Dev) लंबे समय तक कानपुर नगर के एसएसपी (SSP) थे। डीआईजी (DIG) बनने के बाद उन्हें कानपुर नगर से हटाकर एसटीएफ (STF) में तैनाती दी गई थी, लेकिन अनंत देव (Anant Dev)  के हटने के कुछ ही दिन बाद कानपुर नगर के चौबेपुर थाना क्षेत्र (Chaubepur Police Station Area) के बिकरू गांव (Bikru Village) में बदमाश विकास दुबे (Vikas Dubey) और उसके गुर्गों ने दबिश देने गए पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया था, जिसमें 8 पुलिस कर्मियों की मौत हो गई थी।

इस घटना के बाद आरोप अनंत देव (Anant Dev) पर लगे जिसके बाद उन्हें पीएसी सेक्टर मुरादाबाद (PAC Sector Moradabad) स्थानांतरित कर दिया गया। बिकरू कांड (Bikru Case) की जांच के लिए एसआईटी (SIT) भी गठित की गई थी, जिसकी रिपोर्ट के आधार पर अनंत देव को 12 नवंबर 2020 को निलंबित कर दिया गया था। अब लगभग दो वर्ष बाद उनकी बहाली की गई है।

इसके अलावा गाजियाबाद से काम में लापरवाही के आरोप में निलंबित किए गए पवन कुमार (Pawan Kumar)  को भी बहाल कर दिया गया है। पवन को उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव (Uttar Pradesh Legislative Assembly Election) के फौरन बाद 31 मार्च 2022 को निलंबित कर दिया गया था। छह माह बाद उन्हें भी बहाल कर दिया गया है।

तीन अधिकारी अब भी हैं निलंबित

पढ़ें :- Bikru Case : गैंगस्टर विकास दुबे की साजिश में शामिल एसओ और दरोगा नौकरी से बर्खास्त

मौजूदा समय में अनंत देव (Anant Dev)   और पवन कुमार (Pawan Kumar)  की बहाली के बाद तीन अधिकारी अब भी ऐसे हैं जो निलंबित हैं। इसमें 14 फरवरी 2019 को निलंबित किए गए एडीजी जसवीर सिंह, महोबा में एसपी के बाद से भ्रष्टाचार के आरोप में 9 सितंबर 2020 को निलंबित किए गए मणिलाल पाटीदार (Manilal Patidar) और बिना छुट्टी स्वीकृत हुए विदेश जाने के आरोप में 27 अप्रैल 2022 को निलंबित की गईं अलंकृता सिंह (Alankrita Singh) का नाम शामिल हैं।

अनंत देव  और पवन को बहाल करने के बाद प्रतीक्षा सूची में डाला

अनंत देव (Anant Dev)  और पवन कुमार (Pawan Kumar) दोनों को बहाल करने के बाद प्रतीक्षा सूची में डाल दिया गया है। मौजूदा समय में पांच ऐसे अधिकारी हैं जो प्रतीक्षारत हैं। इन दो अधिकारियों के आलावा 1 अगस्त 2022 को लखनऊ पुलिस आयुक्त (Lucknow Police Commissioner) के पद से हटाए गए डीके ठाकुर (DK Thakur) , कानपुर पुलिस आयुक्त (Kanpur Police Commissioner) के पद से हटाए गए विजय सिंह मीणा (Vijay Singh Meena) और 7 सितंबर को केंद्रीय प्रतिनियुक्ति (Central Deputation)से वापस आए अजय मिश्रा (Ajay Mishra) का नाम शामिल है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...