1. हिन्दी समाचार
  2. लोकसभा में फिर पास हुआ तीन तलाक बिल, कांग्रेस समेत इन पार्टियों ने किया विरोध

लोकसभा में फिर पास हुआ तीन तलाक बिल, कांग्रेस समेत इन पार्टियों ने किया विरोध

Bill To Criminalise Instant Triple Talaq Passed In Loksabha

By आशीष यादव 
Updated Date

नई दिल्ली। कांग्रेस समेत तमाम पार्टियों के विरोध के बाद गुरुवार को तीन तलाक बिल एक बार फिर से लोकसभा में पास हो गया। बिल पर दिन भर बहस चली जिसके बाद बिल पास हुआ। बता दें कि ट्रिपल तलाक बिल के पक्ष में 303 और विपक्ष में 82 वोट पड़े। इस का विरोध करने वालों में कांग्रेस, डीएमके, एनसीपी, टीडीपी और जेडीयू समेत कई पार्टियां थीं।

पढ़ें :- बीजेपी ने जारी की लालू राज की डिक्शनरी....क से क्राइम, ख से खतरा, ग से गोली...

बता दें कि ये बिल पिछली लोकसभा में ही पास हो गया था, लेकिन राज्‍यसभा ने इस बिल को वापस कर दिया था। 16वीं लोकसभा का कार्यकाल खत्‍म होने के बाद मोदी सरकार कुछ बदलावों के साथ इस बिल को दोबारा लेकर आई। इस बिल को विचार के लिए पेश करने के लिए वोटिंग कराई गई। जिसमें इसके पक्ष में 303 और विपक्ष में 82 वोट पड़े। इसके साथ ही बिल को पेश करने का प्रस्‍ताव पारित हो गया।

बिल पर बहस के दौरान कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि चुनाव में हमें मुस्लिमों का वोट कम ही मिलता है। हालाकि जब भारतीय जनता पार्टी जीतती है तो सबका साथ सबका विकास की बात करती है। अपराध करने पर मुआवजा देने के प्रावधान पर सवाल उठाए गए, लेकिन जब मुस्लिम पति जेल जाता है, तो यह सवाल क्‍यों नहीं उठता है।

कानून मंत्री ने कहा कि इस बिल के अनुसार पत्‍नी को सुनने के बाद बेल पर फैसला इसलिए लिया जाएगा जिससे कि अगर वो समझौता करना चाहे तो उसके लिए अवसर खुला रहे। अगर कोई उस वक्‍त तीन तलाक न देने की बात कबूलेगा तो उसे छोड़ दिया जाएगा और अगर वो तलाक पर कायम रहेगा तो उसे तुरन्त जेल भेज दिया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि तीन तलाक पर शादी नहीं टूटती है। वहीं जेल जाने के बाद भी पति को गुजारा भत्‍ता देने का प्रावधान किया गया है।

पढ़ें :- संजय सिंह ने बोला यूपी सरकार पर हमला, कहा-सत्ता में आए तो दिल्ली मॉडल उत्तर प्रदेश में लागू होगा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...