Birthday Special: साइड रोल से लीड रोल तक दिव्या दत्त, ऐसा रहा सफर

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस दिव्या दत्ता आज अपना 40वां जन्मदिन मना रही हैं। बॉलीवुड के अलावा पंजाबी, मलयालम और हॉलीवुड की फिल्मों में अपने अभिनय का दमखम दिखा चुकीं दिव्या दत्त भले ही एक लीडिंग स्टार की तरह पहचान न बना पाई हों लेकिन कई फिल्मों में उनके किरदार लीडिंग एक्टर्स से ज्यादा पसंद किए गए। पंजाब के लुधियाना में जन्मी दिव्या मेडिकल क्षेत्र से जुड़े परिवार से है हालांकि दिव्या बचपन से ही एक्टिंग की दुनिया में रुचि रखती थी। सपनों की नागरी मुंबई आने से पहले दिव्या ने अपने होम-स्टेट में मॉडलिंग की शुरुआत की। उन्होंने वहां कई कमर्सियल विज्ञापन किये। उसके बाद दत्ता मुंबई आ गयीं। जिसके बाद शुरू हुआ उनका बॉलीवुड सफर। आइये जानते है दिव्या से जुड़ी कुछ खास बातें।

दिव्या दत्ता ने अपने करियर की शुरुआत 1994 में फिल्म ‘इश्क में जीना इश्क में मरना’ फिल्म से की। जिसके बाद इन्होने एक लीड एक्ट्रेस के तौर पर फिल्म ‘वीरगति’ में सलमान खान के साथ काम किया लेकिन फिल्म पर्दे पर कमाल नहीं दिखा पाई। इसके बाद दिव्या ने फिल्मों में सपोर्टिंग एक्ट्रेस के तौर पर काम करना शुरू कर दिया।

{ यह भी पढ़ें:- बॉलीवुड के खिलाड़ी ने शहीदों के परिवार को दिया स्पेशल दिवाली गिफ्ट }

साल 2004 में दिव्या को पहचान यशराज बैनर के तले बनी फिल्म ‘वीरजारा’ से मिली। जिसके बाद उनको फिल्मों के ऑफर मिलने लगे और उन्होने अपनी अगली फिल्म ‘भाग मिल्खा भाग’ में काम किया।

{ यह भी पढ़ें:- 'हेट स्टोरी-4' में उर्वशी रौतेला का फर्स्ट लुक, कुछ अलग होगी फिल्म की कहानी }

ये किरदार फिल्म में दूसरे किरदारों की तरह ही थे जो शायद किसी को याद नहीं। लेकिन ये एक कलाकार की कड़ी मेहनत होती है जो अपनी मेहनत और लगन से फिल्म में अपने हिस्से को दर्शकों के लिए यादगार बना देता है। दिव्या की यही एक खास बात रही है।

दिव्या दत्ता को 2005 में ‘वीर जारा’ और इसके बाद साल 2010 में ‘दिल्ली-6’ के लिए आईफा अवॉर्ड से भी नवाजा गया है। इन्होने अपने करियर में फिल्म राजा की आएगी बारात, दावा, बड़े मियां छोटे मियाँ, ट्रैन टू पाकिस्तान, कसूर जैसी तमाम फिल्मों में काम किया है।

{ यह भी पढ़ें:- इस स्टार किड की ग्लैमरस फोटो हैं चर्चा में, जल्द होगी बॉलीवुड में एंट्री }