Birthday special: ऐसा रहा मुमताज़ का फिल्मी सफर

नई दिल्ली। 60 से 70 के दशक में अपनी अदाओं से सबको दीवाना बनाने वाली बॉलीवुड की खूबसूरत हसीनाओं में से एक मुमताज़ आज अपना 69 वां जन्मदिन मना रही हैं। मुमताज ने 12 साल की छोटी सी उम्र में बॉलीवुड में कदम रखा था। जिसके बाद शुरू हुए संघर्ष के दौर के बाद वह इंडस्ट्री में सबसे महंगी एक्ट्रेस के नाम से जानी जाने लगी।

मुमताज साल 1952 में आई फिल्म ‘संस्कार’ में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट नजर आईं। इसके बाद ‘लाजवंती'(1958) और ‘सोने की चिड़िया'(1958) भी उन्होंने बतौर चाइल्ड एक्टर काम किया। बतौर हीरोइन वह पहली बार ओ.पी.रहलान की फिल्म ‘गहरा दाग'(1963) में नजर आईं। इसी दौरान उनके खाते में कुछ बी ग्रेड फिल्में का भी आगमन हुआ। लेकिन साल 1969 में राजेश खन्ना के साथ आई ‘दो रास्ते’ फिल्म आई जिसने पर्दे पर आग लगा दी। इस फिल्म ने मुमताज को खूब शौहरत दिलाई। इसी फिल्म के चलते बॉलीवुड में उनका नाम सबसे ऊपर हो गया और वो फिल्मी दुनिया की सबसे महंगी एक्ट्रेसेज की लिस्ट में शुमार हो गई।

{ यह भी पढ़ें:- एवरग्रीन ब्यूटी रेखा के सिंदूर का राज, जबरन 5 मिनट तक फिल्माया गया किसिंग सीन }

यह वो दौर था जब उनके साथ काम करने से मना करने वाले स्टार्स भी उनके साथ एक फिल्म करने को तरस रहे थे। इन्हीं एक्टर्स में एक नाम था शशि कपूर का। जिन्होंने साल 1970 में आई फिल्म ‘सच्चा झूठा’ केवल इसलिए रिजेक्ट कर दी थी क्योंकि इस फिल्म में मुमताज लीड रोल में थीं। शशि के इंकार के बाद इस फिल्म में राजेश खन्ना को लिया गया। राजेश खन्ना और मुमताज़ की जोड़ी को पर्दे पर दर्शकों ने खूब पसंद किया। तब तक मुमताज़ इंडस्ट्री में बहुत बड़ी ब्रांड बन चुकी थी और हर कोई इनके साथ काम करने के लिए आतुर था। कहा जाता है कि शशि कपूर ने 1974 में आई फिल्म ‘चोर मचाए शोर’ में काम करने के लिए प्रोड्यूसर और डायरेक्टर के सामने शर्त तक रख दी थी कि वह फिल्म तभी साइन करेंगे जब उनके अपोजिट मुमताज को कास्ट किया जाएगा।

{ यह भी पढ़ें:- Birthday Special: 'परदेस' की गंगा मना रही अपना 43वां जन्मदिन }