दुनिया जीतने चली मणिपुरी किन्नर

इम्फाल: वह आकर्षक हैं। वह पारंगत हैं और सारे मणिपुरियों के बीच मशहूर और जाना पहचाना नाम हैं। वह ऐसा सितारा हैं जिन्होंने रंगमंच और सिनेमा की दुनिया में उड़ान भरने की कोशिश की है, साथ ही वह एक किन्नर भी हैं। बिशेष हुइरेम (27) से मिलिए, जो 9 नवंबर को थाईलैंड में होने वाले मिस इंटरनेशनल क्वीन ब्यूटी कांटेस्ट में भाग लेकर अपनी प्रसिद्धि को मणिपुर और मणिपुरी बोले जाने वाले पड़ोसी क्षेत्र असम, बांग्लादेश और म्यांमार से परे ले जाना चाहती हैं।

थाईलैंड के चोन्बुरी में होने वाले इस प्रतियोगिता के लिए बिशेष चयनित 30 प्रतिभागियों में से एक हैं। यह सौंदर्य प्रतियोगिता सिर्फ किन्नरों के लिए है, जो 2004 से हर साल आयोजित होती है। बैंगलोर विश्वविद्यालय से फैशन और परिधान डिजाइनिंग में स्नातक और मणिपुरी फिल्मों और रंगमंच से जुड़कर सबसे ज्यादा कमाई करने वालों में से एक बिशेष हुइरेम ने निर्णायकों को प्रभावित करने का मन बना लिया है।




इस कलाकार के माता-पिता ने उनके किन्नर होने का पता चलने पर धैर्य का परिचय दिया। बिशेष के पिता मैंग्लेम ने बताया, “इस बात को समझने की जरूरत है कि मेरा बेटा एक लड़की से कहीं बढ़कर है। वह प्रेस से मिलने के लिए तैयार होने में कई घंटे लगाता है। शुरू में मैं उसके व्यक्तित्व के खिलाफ था, लेकिन मैं उसे नई दिशा नहीं दे सका।”

हाल में सरकारी नौकरी से रिटायर होने वाले मैंग्लेम भी मणिपुरी फिल्मों और रंगमंच में जाना -पहचाना नाम हैं। बिशेष की मां खोमदोन्बी ने बताया कि शुरुआत में वह अपने बेटे द्वारा लड़कियों के कपड़ों के प्रति आकर्षित होने पर काफी नाराज होती थी, लेकिन बाद में उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया।

महिलाओं के लिए ब्यूटी पार्लर भी संचालित करने वाले बिशेष पिछले साल पासपोर्ट और वीजा नहीं बन पाने की वजह से प्रतियोगिता में शामिल नहीं हो पाए। बिशेष ने बताया कि कोई प्रायोजक नहीं मिलने से उन्हें प्रतियोगिता और यात्रा से जुड़े खर्चो का खुद ही वहन करना पड़ रहा है। एक मशहूर किन्नर होने की वजह से बिशेष को अनावश्यक विवादों का भी सामना करना पड़ा है, लेकिन उन्हें राज्य के अन्य किन्नरों का समर्थन प्राप्त है। बिशेष के साथियों को पूरा भरोसा है कि यह खिताब जरूर बिशेष के नाम होगा और फिलीपींस की मौजूदा मिस इंटरनेशनल क्वीन ट्रिक्सी मैरिस्टेला द्वारा उन्हें ताज पहनाया जाएगा।




Loading...