गुजरात में गलत आंकड़े बताकर फंसे राहुल गांधी को भाजपा ने घेरा

गुजरात में गलत आंकड़े बताकर फंसे राहुल गांधी, भाजपा ने घेरा

गांधीनगर। गुजरात विधान सभा चुनाव में दौरे पर निकले कांग्रेस के भावी राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को उन्हीं के भाषणों के माध्यम से भाजपा ने घेरना शुरू कर दिया है। भाजपा की सोशल मीडिया सेल ने एक वीडियो जारी कर बताया है कि राहुल गांधी अपने चुनावी भाषणों में भाजपा को घेरते समय गलत आंकड़े पेश कर रहे हैं। दरअसल राहुल गांधी ने गुजरात में रोजगार की समस्या का जिक्र करते हुए अपने एक भाषण में गुजरात के 50 लाख बेरोजगार युवाओं का जिक्र किया तो अगले ही भाषण में वह इस आंकड़े को 30 लाख बताते नजर आए। जिसे भाजपा ने मुद्दा बना लिया है। भाजपा की मीडिया सेल की ओर से जारी वीडियो में राहुल गांधी के दोनों बयानों को पेश करते हुए पूछा गया है कि राहुल गांधी के पास हर घंटे के आंकड़े कहां से आ रहे हैं जिनके आधार पर उन्होंने बेरोजगारों की तादात चंद घंटों में 20 लाख घटा दी।

दरअसल 24 नवंबर को गुजरात पहुंचे राहुल गांधी ने पोरबंदर और अहमदाबाद में दो जनसभाएं कीं थीं। सुबह पोरबंदर में हुई जनसभा में राहुल गांधी ने दावा किया था कि गुजरात में 50 लाख युवा बेरोजगार है, वहीं शाम को अहमदाबाद पहुंच कर जनसभा में भाषण देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात में 30 लाख युवा बेरोजगार है। चंद घंटों के अंतर पर हुए राहुल गांधी के दो भाषणों में बेरोजगारी के आंकड़ों के जिक्र ने भाजपा को उन्हें बेरोजगारी के मुद्दे पर ही घेरने का मौका दे दिया है।

{ यह भी पढ़ें:- #CongressPresidentRahulGandhi: राहुल के लिए चुनौतियों की फेहरिस्त है लंबी }

इसके अलावा शुक्रवार को पोरबंदर में राहुल गांधी की ओर मछुवारों को खुश करने के लिए मछली मंत्रालय बनाने को लेकर किए गए वादे की पर भी भाजपा ने चुटकी ली है। भाजपा का कहना है कि गुजरात में मछली मंत्रालय पहले से मौजूद है, शायद उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है या फिर उन्हें इस बारे में बताया ही नहीं गया होगा। जब मत्सय मंत्रालय पहले से मौजूद है तो वह कौन सा मंत्रालय बनाने की बात कर रहे हैं।

टाटा मोटर्स को 33 करोड़ का कर्ज देने के मुद्दे पर भी भाजपा हमलावर —

{ यह भी पढ़ें:- गुजरात चुनाव: मोदी ने साधा राहुल व सिब्बल पर निशाना, बोले- इंसानियत पहले चुनाव बाद में }

गुजरात के चुनावी समर में होने वाली अपनी लगभग हर जनसभा में राहुल गांधी गुजरात की भाजपा पर टाटा मोटर्स को 33 करोड़ का कर्ज देने और किसानों की जमीन देने के आरोप लगाते आ रहे हैं। भाजपा की मीडिया सेल की ओर से इस आरोप के खिलाफ एक वीडियो संदेश जारी कर स्पष्टीकरण दिया गया है।

भाजपा ने वीडियो के माध्यम से कहा है कि राहुल गांधी के आरोप सरासर बेबुनियाद हैं। गुजरात सरकार की ओर से टाटा मोटर्स को कोई ऐसा लोन नहीं दिया गया है। जिसकी जांच एमबी शाह आयोग की ओर की जा चुकी है। इस आयोग की रिपोर्ट मौजूद है।

वहीं टाटा नैनो प्लांट के लिए जमीन आवंटन के मामले पर दी गई सफाई में कहा गया है कि गुजरात सरकार ने अपने स्वामित्व वाले एग्रीकल्चरर फार्म को टाटा नैनो प्लांट के लिए अवंटित किया था। यह जमीन किसी किसान से नहीं ली गई थी। जो जमीन सरकार ने टाटा मोटर्स को आवंटित की गई उसके लिए कंपनी से दो गुनी कीमत बसूल की गई थी।

{ यह भी पढ़ें:- यूपी निकाय चुनाव 2017 परिणाम: भाजपा सबसे आगे, अब तक 14 नगर निगमों पर बढ़त }

Loading...