विपक्षी महागठबंधन रैली में शामिल होने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा पर हो सकती है कार्रवाई

satrughan sinha bjp
विपक्षी महागठबंधन रैली में शामिल होने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा पर हो सकती है कार्रवाई

नई दिल्ली। कोलकाता में विपक्षी महागठबंधन की रैली में शनिवार को शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा के खिलाफ अब बीजेपी कार्रवाई करने का मन बना चुकी है। जानकारों का कहना है कि पहले उन्हे कारण बताओ नोटिस जारी होगा और उसके बाद उन्हे पार्टी के निष्कासित कर दिया जाएगा। भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी का कहना है कि उन्होंने अब सीमा पार कर दी है, क्योंकि उन्होंने सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है।

Bjp Can Take Action Against Shatrughan Sinha For Participating In Vipachi Mahaganthbandhan :

भाजपा प्रवक्ता राजीव प्रताप रूड़ी ने शत्रुघ्न सिन्हा को अवसरवादी करार देते हुए कहा कि “पार्टी इसका संज्ञान लेगी।” बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा और रूड़ी दोनों बिहार से आते हैं। उन्होंने कहा कि पटना साहिब के सांसद उन सारी सुविधाओं का लाभ उठाते हैं, जो संसद सदस्य को मिलती है।

भाजपा प्रवक्ता के मुताबिक “कुछ लोग सांसद होने का लाभ लेने के लिए भाजपा के बैनर हो ढोना चाहते हैं। ऐसे लोग पार्टी द्वारा वीएचपी जारी करने पर संसद में मौजूद होते हैं, ताकि उनकी सदस्यता न जाए, लेकिन वे इतने अवसरवादी हैं कि अलग-अलग मंचों से अलग-अगल तरह की राय जाहिर करते हैं।” रूड़ी ने शत्रुघ्न सिन्हा को बहुत चतुर बताते हुए उनपर पिछले पांच सालों में भाजपा के किसी कार्यकलाप में मौजूद नहीं रहने का आरोप लगाया।

नई दिल्ली। कोलकाता में विपक्षी महागठबंधन की रैली में शनिवार को शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा के खिलाफ अब बीजेपी कार्रवाई करने का मन बना चुकी है। जानकारों का कहना है कि पहले उन्हे कारण बताओ नोटिस जारी होगा और उसके बाद उन्हे पार्टी के निष्कासित कर दिया जाएगा। भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी का कहना है कि उन्होंने अब सीमा पार कर दी है, क्योंकि उन्होंने सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है।भाजपा प्रवक्ता राजीव प्रताप रूड़ी ने शत्रुघ्न सिन्हा को अवसरवादी करार देते हुए कहा कि "पार्टी इसका संज्ञान लेगी।" बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा और रूड़ी दोनों बिहार से आते हैं। उन्होंने कहा कि पटना साहिब के सांसद उन सारी सुविधाओं का लाभ उठाते हैं, जो संसद सदस्य को मिलती है।भाजपा प्रवक्ता के मुताबिक "कुछ लोग सांसद होने का लाभ लेने के लिए भाजपा के बैनर हो ढोना चाहते हैं। ऐसे लोग पार्टी द्वारा वीएचपी जारी करने पर संसद में मौजूद होते हैं, ताकि उनकी सदस्यता न जाए, लेकिन वे इतने अवसरवादी हैं कि अलग-अलग मंचों से अलग-अगल तरह की राय जाहिर करते हैं।" रूड़ी ने शत्रुघ्न सिन्हा को बहुत चतुर बताते हुए उनपर पिछले पांच सालों में भाजपा के किसी कार्यकलाप में मौजूद नहीं रहने का आरोप लगाया।