मंच पर मौजूद थे भाजपा के दिग्गज नेता, मुट्ठीभर लोगों की भीड़ देख रो पड़ी सांसद

bjp-neelam-sonkar
मंच पर मौजूद थे भाजपा के दिग्गज नेता, मुट्ठीभर लोगों की भीड़ देख रो पड़ी सांसद

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के चलते राजनैतिक पार्टियों में रैलियों और चुनावी सभाओं का दौर काफी तेज हो गया है। इस बार के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में केंद्र और यूपी की सत्ताधारी भाजपा सरकार ने 80 लोकसभा सीटों में 74 सीटें जीतने का दावा किया है, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयान कर रही है। शनिवार को आजमगढ़ जिले में मौजूदा सांसद और प्रत्याशी नीलम सोनकर की चुनावी सभा देख वो खुद हैरान रह गयी और उनके आंसू निकाल आए।

Bjp Candidate Neelam Sonkar Crying During Jansabha In Lalganj :

दरअसल, आजमगढ़ के अंबारी में उत्तर प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय समेत पार्टी के कई कद्दावर नेता लालगंज लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार नीलम सोनकर के लिए वोट मांगने पहुंचे थे। इस कार्यक्रम के लिए काफी दिनों से तैयारियां की जा रही थी। भीड़ जुटाने के लिए पार्टी ने ब्लाक और गांव स्तर पर लोगों से संपर्क भी किया था। लेकिन जनसभा के दौरान भीड़ का नजारा देख भाजपा नेताओं के होश उड़ गए।

इस चुनावी रैली में ज़्यादातर कुर्सियां खाली नजर आयीं। ये नजारा देख नीलम सोनकर रोने लगीं और रूमाल निकाल कर अपने आंसू पोंछने लगी। हालांकि कुछ देर बाद उन्होने खुद को संभाला। इस कार्यक्रम के लिए करीब हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गयी थी। जिसमें महज 100 से 150 लोग ही नजर आए। बतादें कि सपा-बसपा गठबंधन में ये सीट बसपा को मिली है। यहां से बसपा ने संगीता आजाद को प्रभारी बनाया है। छठे चरण में 12 मई को यहां वोटिंग होनी है।

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के चलते राजनैतिक पार्टियों में रैलियों और चुनावी सभाओं का दौर काफी तेज हो गया है। इस बार के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में केंद्र और यूपी की सत्ताधारी भाजपा सरकार ने 80 लोकसभा सीटों में 74 सीटें जीतने का दावा किया है, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयान कर रही है। शनिवार को आजमगढ़ जिले में मौजूदा सांसद और प्रत्याशी नीलम सोनकर की चुनावी सभा देख वो खुद हैरान रह गयी और उनके आंसू निकाल आए।

दरअसल, आजमगढ़ के अंबारी में उत्तर प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय समेत पार्टी के कई कद्दावर नेता लालगंज लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार नीलम सोनकर के लिए वोट मांगने पहुंचे थे। इस कार्यक्रम के लिए काफी दिनों से तैयारियां की जा रही थी। भीड़ जुटाने के लिए पार्टी ने ब्लाक और गांव स्तर पर लोगों से संपर्क भी किया था। लेकिन जनसभा के दौरान भीड़ का नजारा देख भाजपा नेताओं के होश उड़ गए।

इस चुनावी रैली में ज़्यादातर कुर्सियां खाली नजर आयीं। ये नजारा देख नीलम सोनकर रोने लगीं और रूमाल निकाल कर अपने आंसू पोंछने लगी। हालांकि कुछ देर बाद उन्होने खुद को संभाला। इस कार्यक्रम के लिए करीब हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गयी थी। जिसमें महज 100 से 150 लोग ही नजर आए। बतादें कि सपा-बसपा गठबंधन में ये सीट बसपा को मिली है। यहां से बसपा ने संगीता आजाद को प्रभारी बनाया है। छठे चरण में 12 मई को यहां वोटिंग होनी है।