1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. बीजेपी सरकार आरएसएस के एजेंडा कर रही है लागू, संघ के बिना बीजेपी का कोई अस्तित्व नहीं : मायावती

बीजेपी सरकार आरएसएस के एजेंडा कर रही है लागू, संघ के बिना बीजेपी का कोई अस्तित्व नहीं : मायावती

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को प्रेंस कांफ्रेस कर बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर बड़ा हमला बोला है। मायावती ने कहा कि केंद्र व प्रदेश में बीजेपी की सरकारें आरएसएस के एजेंडे पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि संघ के बिना बीजेपी का राजनीति कोई अस्तित्व नहीं है। संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए मायावती ने कहा कि उनकी बात किसी के गले नहीं उतर रही है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को प्रेंस कांफ्रेस कर बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर बड़ा हमला बोला है। मायावती ने कहा कि केंद्र व प्रदेश में बीजेपी की सरकारें आरएसएस के एजेंडे पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि संघ के बिना बीजेपी का राजनीति कोई अस्तित्व नहीं है। संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए मायावती ने कहा कि उनकी बात किसी के गले नहीं उतर रही है। उन्होंने कहा कि मोहन भागवत का बयान ‘मुंह में राम, बगल में छुरी’ जैसा है।

पढ़ें :- CM Yogi Aditytanath Kanya Puja : नवमी तिथि पर सीएम योगी ने मातृशक्ति के पांव पखारे, खिलाया भोजन, देखें तस्वीरें

मायावती ने कहा कि आरएसएस, बीजेपी एंड कंपनी की कथनी-करनी में काफी अंतर है। मायावती बोलीं कि मोहन भागवत देश की राजनीति को विभाजनकारी बताकर जो कोस रहे हैं, वह सही नहीं है। सच्चाई तो ये है कि बीजेपी की सरकारों की वजह से जातिवाद, राजनीति द्वेष और सांप्रदायिक हिंसा आ लोगों को परेशान किया हुआ है।

मायावती ने कहा कि यूपी में आज अफरा-तफरी का माहौल है। बसपा हमेशा ही आरएसएस की नीतियों का विरोध करती रही है। उन्होंने कहा कि आरएसएस अपनी बातों को भाजपा की सरकारों से ही क्यों लागू नहीं करवा पा रही है। बसपा प्रमुख ने कहा कि भागवत जो कहते हैं वो उसका उल्टा ही करते हैं। मोहन भागवत का दिया गया ताज़ा बयान लोगों को अविश्वसनीय लगता है।

मायावती ने कहा कि जो लोग जबरन धर्म बदलवाते हैं, ऐसे मामलों में सख्त एक्शन लिया जाना चाहिए। लेकिन जानबूझकर इसे हिन्दू-मुस्लिम मुद्दा नहीं बनाना चाहिए और मुस्लिम समाज को शक की निगाह से नहीं देखा जाना चाहिए। मायावती ने कहा कि धर्मांतरण के मुद्दे पर जांच क्या कर रही हैं। इसकी निष्पक्ष जांच हो ताकि जनता के सामने सच्चाई सामने आ सके। मायावती ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार राजनीति विद्वेष की भावना से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि इस सरकार में केवल मुस्लिमों की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जा रहा है।

पढ़ें :- पीएम मोदी की रैली से पहले जिला प्रशासन की नई शर्त पत्रकारों को देना होगा चरित्र प्रमाण पत्र
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...