1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. भाजपा को दोबारा मौका मिला है सड़कें जर्जर हैं गड्ढे- अखिलेश यादव

भाजपा को दोबारा मौका मिला है सड़कें जर्जर हैं गड्ढे- अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश में लगातार भाजपा को दोबारा मौका मिला है सड़कें जर्जर हैं गड्ढे बन गए हैं सड़कों पर उत्तर प्रदेश में इस बार यह देखने को मिला कि कुछ हिस्सों में बाढ़ है और कुछ हिस्सों में सूखा पड़ा है फिर भी किसानों को कोई राहत नहीं दी गई है किसानों को सरकार ने कोई राहत व भरपाई नहीं दी है

By प्रिया सिंह 
Updated Date

उत्तर प्रदेश में लगातार भाजपा को दोबारा मौका मिला है सड़कें जर्जर हैं गड्ढे बन गए हैं सड़कों पर उत्तर प्रदेश में इस बार यह देखने को मिला कि कुछ हिस्सों में बाढ़ है और कुछ हिस्सों में सूखा पड़ा है फिर भी किसानों को कोई राहत नहीं दी गई है किसानों को सरकार ने कोई राहत व भरपाई नहीं दी है बड़े पैमाने पर जानवर बीमारी से मर रहे हैं जो लपी वायरस फैला है कई जानवरों की जाने जा चुकी हैं फिर भी सरकार ने कोई मदद नहीं की नाही जानवरों की देखभाल के लिए सरकार कुछ कर पाई है यह डबल इंजन की सरकार जिसे मौका जनता ने दिल्ली में भी और उत्तर प्रदेश में भी दिया लगातार इस सरकार में महंगाई बढ़ी है जनता को लगातार महंगाई का सामना करना पड़ रहा है उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था खराब है भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है कोई कल्पना नहीं कर सकता था अपने भारत देश में दूध पर दही पर पनीर पर जीएसटी लग जाएगी और न केवल जीएसटी लगाई है बल्कि खाली खाने पीने की चीजें लगातार नहीं हो रही है और जो भाजपा ने सपने दिखाए थे वह सब फेल होते नजर आ रहे हैं बड़े पैमाने पर बेरोजगारी बढ़ी है उत्तर प्रदेश में जो दलितों और पिछड़ों को संविधान ने अधिकार दिए थे वह अच्छी ने जा रहे हैं कोई भी भाग नहीं बचा जो सरकार ने ना भेजा हो रेलवे भेज दी एयरपोर्ट बिक गए जहां पर बड़े पैमाने पर नौजवानों को नौकरी मिलनी थी वह सब विभाग भेज दिए गए

पढ़ें :- क्या फिर बसपा और सपा आ सकते हैं साथ, लोकसभा चुनाव 2024 से पहले हो सकता है गठबंधन

कोरोना की वजह से जो भर्ती बंद थी अब वह भी नहीं दे रही है सरकार जिस समय नौजवान निकले थे अपनी आवाज उठाने उन पर मुकदमे लाद दिए गए कई लाख नौजवानों ने फॉर्म भरे लेकिन सरकार नौजवानों से पीठ मोड़ ले रही है नौकरी नहीं किसान बर्बाद किसानों का बकाया है चीनी मिल किसान ने किसानों के गन्ना मूल की कीमत नहीं दे पा रही है बिजली ट्रांसफार्मर जर्जर है जो बिजली कैपेसिटी बढ़ाने थी वह भी नहीं बडा पा रहे हैं समाजवादी पार्टी पहले भी इन मुद्दों को लेकर धरना देना चाहती थी आवाज उठाना चाहती थी लेकिन समाजवादी पार्टी के तमाम कार्यकर्ताओं पर मुकदमे लाद दिए गए

आज जब हम पैदल जाना चाहते थे तो रोका गया यह कैसी सरकार है जो विधायकों को पूर्व मंत्रियों को जो कई कई बार के विधायक हैं पूर्व स्पीकर हैं बड़े-बड़े पदों पर स्थापित हैं उनको सदन में नहीं जाने दिया गया हम सदन में जनता के ही मुद्दों को उठाने के लिए जा रहे थे भाजपा सरकार आखिर क्यों नहीं इन मुद्दों को फेस करना चाहती है लोकतंत्र को बचाने के लिए समाजवादी पार्टी इसी तरह से उठाते रहेंगे अब अगली रणनीति क्या होगी वह हम सभी विधायकों के साथ बैठक करके तय करेंगे

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...