1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अखिलेश के बराबर शिवपाल यादव को खड़ा करने जा रही है बीजेपी, सपा हुई बेचैन

अखिलेश के बराबर शिवपाल यादव को खड़ा करने जा रही है बीजेपी, सपा हुई बेचैन

सत्ता के गलियारों में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के विधानसभा का डिप्टी स्पीकर बनाए जाने की अटकलें तेज हो गई हैं। इन अटकलों ने समाजवादी पार्टी को बेचैन कर दिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। सत्ता के गलियारों में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के विधानसभा का डिप्टी स्पीकर बनाए जाने की अटकलें तेज हो गई हैं। इन अटकलों ने समाजवादी पार्टी को बेचैन कर दिया है।

पढ़ें :- Tripura Assembly Election : त्रिपुरा में BJP ने जारी किया घोषणापत्र , राज्य के विकास पर किया फोकस

राजनीतिक गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म है कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के विधायक चाचा को बीजेपी विधानसभा के डिप्टी स्पीकर के पद से नवाज सकती है। बता दें कि बीते कुछ दिनों से भाजपा के नेताओं से संपर्क बढ़ा रहे। ​सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शिवपाल इस पद को स्वीकार करने के लिए तैयार है। यह सवाल भी बड़ा बना हुआ है। खुद के बारे में तरह-तरह की अटकलों पर सफाई देने के बजाय शिवपाल सिर्फ यह कह कर खामोश  हैं कि वक्त आने पर बताएंगे। उनकी यही अदा सपा खेमे को बेचैन किए हुए हैं।

बता दें कि अखिलेश यादव व चाचा शिवपाल यादव में कई सालों से मनमुटाव चल रहा था, लेकिन साल 2022 के विधानसभा चुनाव के बाद भी यह मनमुटाव खत्म होता नजर आ रहा है ।  ऐसे में राजनीतिक जानकारों का कहना है कि शिवपाल यादव भाजपा मे शामिल हो सकते हैं।

जबकि वहीं शिवपाल यादव हाल ही में गृह मंत्री, मुख्यमंत्री व भाजपा के कई दिग्गज नेताओं से मुलाकात किए। यही नही वे प्रधानमंत्री, गृह मंत्री को ट्वीटर पर फालों भी किए।

वहीं शिवपाल यादव ने अपने ट्वीटर एकांउट पर एक ट्वीट किया है जिसमें वह लिखे है कि, प्रातकाल उठि कै रघुनाथा। मातु पिता गुरु नावहिं माथा॥ आयसु मागि करहिं पुर काजा। देखि चरित हरषइ मन राजा॥ भगवान राम का चरित्र ‘परिवार, संस्कार और राष्ट्र’ निर्माण की सर्वोत्तम पाठशाला है। चैत्र नवरात्रि आस्था के साथ ही प्रभु राम के आदर्श से जुड़ने व उसे गुनने का भी क्षण है।

पढ़ें :- टीम इंडिया का स्कोर बिना किसी नुकसान के 60 रन पार, रोहित शर्मा की आक्रामक बल्लेबाजी जारी

जिसके बाद से प्रदेश में यह कयास लगाया जा रहा है कि वह भगवा रंग में रंग चुके हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा उपाध्यक्ष की कुर्सी को अगर शिवपाल स्वीकार करते हैं तो वह सदन में अपने भतीजे व नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव के बगल में बैठेंगे। विधानसभा उपाध्यक्ष की सीट सदन में ठीक नेता प्रतिपक्ष के बगल में ही होती है। प्रसपा प्रमुख शिवपाल यादव इटावा जिले की जसवंतनगर विधानसभा सीट से लगातार छठी बार विधायक निर्वाचित हुए हैं। हमेशा की ही तरह इस दफा भी शिवपाल सिंह यादव समाजवादी पार्टी के सिंबल साइकिल के चुनाव चिन्ह से निर्वाचित हुए हैं। 10 मार्च को मतगणना खत्म होने के बाद शिवपाल सिंह यादव ने अपने भतीजे अखिलेश यादव की कार्यशैली पर सवाल उठाना शुरू कर दिया था,जिससे अखिलेश यादव से दूरियां बढ़ती जा रही हैं। सपा उन्हें अपना विधायक से ज्यादा सहयोगी दल प्रसपा का अध्यक्ष मानती है।

पढ़ें :- विधायक नौतनवा ऋषि त्रिपाठी ने सांसद खेल स्पर्धा का किया शुभारंभ

शिवपाल यादव ने हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुलाकात तो की ही नवरात्रि के पहले दिन सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फॉलो करने से उनके भाजपा के साथ जाने के संकेत मिल रहे हैं। बता दें कि इससे पहले उन्हें राज्यसभा में भेजे जाने व उनकी सीट जसवंत नगर पर उपचुनाव में बेटे आदित्य यादव को उतारने की अटकलें जोरों पर थीं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...