महात्‍मा गांधी को ‘पाकिस्तानी राष्ट्रपिता’ कहने वाले नेता को BJP ने किया सस्पेंड

bjp
महात्‍मा गांधी को 'पाकिस्तानी राष्ट्रपिता' कहने वाले नेता को BJP ने किया सस्पेंड

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता अनिल सौमित्र ने महात्‍मा गांधी पर विवादित बयान देकर अपनी पार्टी के लिए एक नई मुसीबत खड़ी कर दी है। अनिल सौमित्र ने अपने फेसबुक पर पोस्ट किया था, महात्मा गांधी राष्ट्रपिता थे, लेकिन पाकिस्तान राष्ट्र के। भारत राष्ट्र में तो उनके जैसे करोड़ों पुत्र हुए। कुछ लायक तो कुछ नालायक. हालांकि, भाजपा ने अनिल सौमित्र पर तुरंत कार्रवाई करते हुए उन्‍हें सस्‍पेंड कर दिया है।

Bjp Leader Anil Soumitra Suspended For Giving Controversial Statement About Gandhi :

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के आखिरी चरण का मतदान 19 मई को होने जा रहा है. उससे पहले नाथूराम गोडसे पर बीजेपी नेताओं द्वारा आए बयानों से हुए विवाद ने देशभर में तूल पकड़ लिया है। भोपाल से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर द्वारा नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) को देशभक्त बताए जाने पर बीजेपी ने पल्ला झाडा़ लिया। जिसके दूसरे दिन शुक्रवार की सुबह प्रज्ञा ठाकुर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस मसले पर माफी मांगी।

बता दें, पीएम मोदी ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा है कि गांधी जी या गोडसे के बारे में जो बयान दिए गए हैं वो बहुत ख़राब है और समाज के लिए बहुत गलत हैं। ये अलग बात है की उन्होंने माफ़ी मांग ली, लेकिन मैं उन्हें मन से कभी माफ़ नहीं कर पाऊंगा। इसी कड़ी में प्रज्ञा ठाकुर, केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े और नलिन कुमार कतील को 10 दिन के अंदर सफाई देने के लिए कहा गया है।

उधर, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की ओर से ट्वीटर में दिए गए बयान में कहा गया है, ‘विगत 2 दिनों में श्री अनंतकुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और श्री नलीन कटील के जो बयान आये हैं वो उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है।

लेकिन इसके आगे अमित शाह ने कहा है कि इन लोगों ने अपने बयान वापिस लिए हैं और माफ़ी भी मांगी है। फिर भी सार्वजनिक जीवन तथा भारतीय जनता पार्टी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लेकर तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है’।

तीसरे आखिरी ट्वीट में अमित शाह ने कहा, ‘अनुशासन समिति तीनों नेताओं से जवाब मांगकर उसकी एक रिपोर्ट 10 दिन के अंदर पार्टी को दे, इस तरह की सूचना दी गयी है’।

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता अनिल सौमित्र ने महात्‍मा गांधी पर विवादित बयान देकर अपनी पार्टी के लिए एक नई मुसीबत खड़ी कर दी है। अनिल सौमित्र ने अपने फेसबुक पर पोस्ट किया था, महात्मा गांधी राष्ट्रपिता थे, लेकिन पाकिस्तान राष्ट्र के। भारत राष्ट्र में तो उनके जैसे करोड़ों पुत्र हुए। कुछ लायक तो कुछ नालायक. हालांकि, भाजपा ने अनिल सौमित्र पर तुरंत कार्रवाई करते हुए उन्‍हें सस्‍पेंड कर दिया है। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के आखिरी चरण का मतदान 19 मई को होने जा रहा है. उससे पहले नाथूराम गोडसे पर बीजेपी नेताओं द्वारा आए बयानों से हुए विवाद ने देशभर में तूल पकड़ लिया है। भोपाल से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर द्वारा नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) को देशभक्त बताए जाने पर बीजेपी ने पल्ला झाडा़ लिया। जिसके दूसरे दिन शुक्रवार की सुबह प्रज्ञा ठाकुर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस मसले पर माफी मांगी। बता दें, पीएम मोदी ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा है कि गांधी जी या गोडसे के बारे में जो बयान दिए गए हैं वो बहुत ख़राब है और समाज के लिए बहुत गलत हैं। ये अलग बात है की उन्होंने माफ़ी मांग ली, लेकिन मैं उन्हें मन से कभी माफ़ नहीं कर पाऊंगा। इसी कड़ी में प्रज्ञा ठाकुर, केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े और नलिन कुमार कतील को 10 दिन के अंदर सफाई देने के लिए कहा गया है। उधर, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की ओर से ट्वीटर में दिए गए बयान में कहा गया है, 'विगत 2 दिनों में श्री अनंतकुमार हेगड़े, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और श्री नलीन कटील के जो बयान आये हैं वो उनके निजी बयान हैं, उन बयानों से भारतीय जनता पार्टी का कोई संबंध नहीं है। लेकिन इसके आगे अमित शाह ने कहा है कि इन लोगों ने अपने बयान वापिस लिए हैं और माफ़ी भी मांगी है। फिर भी सार्वजनिक जीवन तथा भारतीय जनता पार्टी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लेकर तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है'। तीसरे आखिरी ट्वीट में अमित शाह ने कहा, 'अनुशासन समिति तीनों नेताओं से जवाब मांगकर उसकी एक रिपोर्ट 10 दिन के अंदर पार्टी को दे, इस तरह की सूचना दी गयी है'।