जीत का जश्न मनाकर घर लौटे बीजेपी नेता की हत्या, परिजनों से मिलेंगी स्मृति ईरानी

surendar singh
जीत का जश्न मनाकर घर लौटे बीजेपी नेता की हत्या, परिजनों से मिलेंगी स्मृति ईरानी

अमेठी। लोकसभा चुनाव के खत्म होते ही चुनावी रंजिश का दौर शुरू हो गया है। अमेठी में सांसद स्मृति ईरानी के करीबी बीजेपी नेता की हत्या कर दी गयी। स्मृति ईरानी के करीबी नेता की हत्या के बाद अमेठी में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस जांच पड़ताल में जुटी है। पुलिस का कहना है कि संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है।

Bjp Leader Killed After Celebrating Victory Will Meet Family Members Smriti Irani :

सुरेंद्र सिंह के बेटे अभय ने आरोप लगाया है कि इलाके के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उसके पिता की हत्या कराई है। उधर अमेठी से सांसद बनीं स्मृति ईरानी मृतक सुरेंद्र सिंह के शोक में डूबे परिवार से मिलने रविवार को लखनऊ पहुंच रही हैं।
गौरीगंज के जामों ब्लॉक के बरौलिया ग्राम पंचायत के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह सांसद स्मृति ईरानी के करीबी थे, जो अक्सर उनके साथ चुनावी रैलियों में देखे गये।

बाइक सवार बदामशों ने घर के बाहर सोते समय सुरेंद्र सिंह पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, घायल पूर्व प्रधान को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। जहां डाक्टरों ने लखनऊ रेफर कर दिया। लखनऊ ले जाते वक्त सुरेंद्र सिंह ने दमतोड़ दिया। मौत की खबर मिलते ही मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है। सुरेंद्र सिंह की हत्या के बाद हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने पुलिस को वारदात की जानकारी दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है। पूर्व प्रधान की हत्या के बाद गांव में तनाव का माहौल है। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। स्मृति ईरानी के चुनाव प्रचार के दौरान पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की अहम भूमिका थी। बताया जा रहा है कि सुरेंद्र सिंह का प्रभाव कई गांवों में है। घटना के पीछे पुलिस चुनावी रंजिश से भी जोड़कर जांच कर रही है।

अमेठी। लोकसभा चुनाव के खत्म होते ही चुनावी रंजिश का दौर शुरू हो गया है। अमेठी में सांसद स्मृति ईरानी के करीबी बीजेपी नेता की हत्या कर दी गयी। स्मृति ईरानी के करीबी नेता की हत्या के बाद अमेठी में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस जांच पड़ताल में जुटी है। पुलिस का कहना है कि संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है। सुरेंद्र सिंह के बेटे अभय ने आरोप लगाया है कि इलाके के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उसके पिता की हत्या कराई है। उधर अमेठी से सांसद बनीं स्मृति ईरानी मृतक सुरेंद्र सिंह के शोक में डूबे परिवार से मिलने रविवार को लखनऊ पहुंच रही हैं। गौरीगंज के जामों ब्लॉक के बरौलिया ग्राम पंचायत के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह सांसद स्मृति ईरानी के करीबी थे, जो अक्सर उनके साथ चुनावी रैलियों में देखे गये। बाइक सवार बदामशों ने घर के बाहर सोते समय सुरेंद्र सिंह पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, घायल पूर्व प्रधान को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। जहां डाक्टरों ने लखनऊ रेफर कर दिया। लखनऊ ले जाते वक्त सुरेंद्र सिंह ने दमतोड़ दिया। मौत की खबर मिलते ही मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है। सुरेंद्र सिंह की हत्या के बाद हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने पुलिस को वारदात की जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है। पूर्व प्रधान की हत्या के बाद गांव में तनाव का माहौल है। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। स्मृति ईरानी के चुनाव प्रचार के दौरान पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की अहम भूमिका थी। बताया जा रहा है कि सुरेंद्र सिंह का प्रभाव कई गांवों में है। घटना के पीछे पुलिस चुनावी रंजिश से भी जोड़कर जांच कर रही है।