नाराज बीजेपी नेता ने मोदी को सुनाई खरी-खोटी, कहा निष्पक्ष चुनाव हुए तो मिलेंगी सिर्फ 40 सीटें

pm modi
टिकट न मिलने से नाराज बीजेपी नेता ने मोदी को सुनाई खरी-खोटी, कहा निष्पक्ष चुनाव हुए तो मिलेंगी सिर्फ 40 सीटें

नई दिल्ली। एक तरफ जहां पीएम मोदी बीते लोकसभा चुनावों से ज्यादा सीटें लाने का राग अलाप रहे है, वहीं दूसरी तरफ उनके हमराज रहे एक शख्स ने उन्हे खुला पत्र लिखकर चेताया है। उसने साफ—साफ लिखा कि आगामी लोकसभा चुनाव निष्पक्ष तरीके से होते हैं तो बीजेपी चार सौ नहीं सिर्फ बमुश्किल 40 सीटें ही पाएंगी।

Bjp Leader Who Did Not Receive The Ticket Told To To Pm Modi If Fair Elections Were Held Fair Only 40 Seats Would Be Won :

बता दें कि बीते लोकसभा चुनाव में रायबरेली से सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले बीजेपी नेता और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अजय अग्रवाल ने ये खत पीएम नरेन्द्र मोदी को लिखा है। जिसमें उन्होने लिखा कि कि अगर मैने गुजरात चुनाव के दौरान मणिशंकर अय्यर के जंगपुरा स्थित घर पर छह दिसंबर 2018 की शाम पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की हुई मीटिंग का खुलासा न किया होता तो बीजेपी यह चुनाव किसी भी ​कीमत पर न जीत पाती।

बता दें कि पीएम मोदी ने इस खुलासे को ही भुनाकर बीते चुनाव में भारी जीत हासिल की थी। इसके चलते हुए ध्रुवीकरण के सहारे बीजेपी हारते हुए भी गुजरात चुनाव जीतने में सफल रही। अग्रवाल के मुताबिक खुद संघ के शीर्ष नेता भी यह बात स्वीकार करते हैं।

इस बीजेपी नेता ने संघ के सह सर कार्यवाह दत्तात्रेय होशबोले के साथ फोन पर हुई कथित बातचीत का ऑडियो भी जारी किया है। जिसमें दत्तात्रेय कथित तौर पर यह कहते सुने जा सकते हैं कि उस खुलासे(पाक उच्चायुक्त के साथ मनमोहन की मीटिंग) की वजह से गुजरात चुनाव जीता था। अजय अग्रवाल ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में दावा किया कि यदि निष्पक्ष चुनाव होंगे तो आप जो चार सौ सीटों का दावा कर रहे हैं, उसकी जग देशभर में सिर्फ 40 सीटों पर भी सिमट सकते है। खत में उसने पीएम मोदी को सलाह दिया कि यह सदमा झेलने के लिए आप तैयार रहें। अजय अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने बहुत दुखी मन से यह चिट्ठी पीएम मोदी को लिखी है।

इस खत में अजय अग्रवाल ने पीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि 28 वर्षों के पुराने परिचय और बीजेपी के पुराने 11 अशोका रोड वाले दफ्तर पर आपके साथ कम से कम सौ बार भोजन करने के बाद मेरे साथ जो सलूक हुआ, वह बहुत बुरा है। उन्होने कहा कि नोटबंदी के दौरान हुए भ्रष्टाचार को लेकर कई बार आपको पत्र लिखकर जमीनी सच्चाई से रूबरू कराने की कोशिश की, मगर कार्रवाई की जगह उल्टे आपकी नाराजगी का शिकार हो गया। अजय अग्रवाल ने कहा है कि रायबरेली चुनाव इतिहास में बीजेपी की तरफ से सबसे ज्यादा एक लाख तिहत्तर हजार सात सौ इक्कीस वोट प्राप्त कर मैने गांधी परिवार के गढ़ में पार्टी की प्रतिष्ठा बढ़ाई। फिर भी मेरा टिकट काटकर एक दागी छवि के प्रत्याशी को इस बार बीजेपी ने रायबरेली से टिकट दिया है. मेरा दावा है कि पार्टी प्रत्याशी को 50 हजार से ज्यादा वोट नहीं मिलेगा।

नई दिल्ली। एक तरफ जहां पीएम मोदी बीते लोकसभा चुनावों से ज्यादा सीटें लाने का राग अलाप रहे है, वहीं दूसरी तरफ उनके हमराज रहे एक शख्स ने उन्हे खुला पत्र लिखकर चेताया है। उसने साफ—साफ लिखा कि आगामी लोकसभा चुनाव निष्पक्ष तरीके से होते हैं तो बीजेपी चार सौ नहीं सिर्फ बमुश्किल 40 सीटें ही पाएंगी।

बता दें कि बीते लोकसभा चुनाव में रायबरेली से सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले बीजेपी नेता और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अजय अग्रवाल ने ये खत पीएम नरेन्द्र मोदी को लिखा है। जिसमें उन्होने लिखा कि कि अगर मैने गुजरात चुनाव के दौरान मणिशंकर अय्यर के जंगपुरा स्थित घर पर छह दिसंबर 2018 की शाम पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की हुई मीटिंग का खुलासा न किया होता तो बीजेपी यह चुनाव किसी भी ​कीमत पर न जीत पाती।

बता दें कि पीएम मोदी ने इस खुलासे को ही भुनाकर बीते चुनाव में भारी जीत हासिल की थी। इसके चलते हुए ध्रुवीकरण के सहारे बीजेपी हारते हुए भी गुजरात चुनाव जीतने में सफल रही। अग्रवाल के मुताबिक खुद संघ के शीर्ष नेता भी यह बात स्वीकार करते हैं।

इस बीजेपी नेता ने संघ के सह सर कार्यवाह दत्तात्रेय होशबोले के साथ फोन पर हुई कथित बातचीत का ऑडियो भी जारी किया है। जिसमें दत्तात्रेय कथित तौर पर यह कहते सुने जा सकते हैं कि उस खुलासे(पाक उच्चायुक्त के साथ मनमोहन की मीटिंग) की वजह से गुजरात चुनाव जीता था। अजय अग्रवाल ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में दावा किया कि यदि निष्पक्ष चुनाव होंगे तो आप जो चार सौ सीटों का दावा कर रहे हैं, उसकी जग देशभर में सिर्फ 40 सीटों पर भी सिमट सकते है। खत में उसने पीएम मोदी को सलाह दिया कि यह सदमा झेलने के लिए आप तैयार रहें। अजय अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने बहुत दुखी मन से यह चिट्ठी पीएम मोदी को लिखी है।

इस खत में अजय अग्रवाल ने पीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि 28 वर्षों के पुराने परिचय और बीजेपी के पुराने 11 अशोका रोड वाले दफ्तर पर आपके साथ कम से कम सौ बार भोजन करने के बाद मेरे साथ जो सलूक हुआ, वह बहुत बुरा है। उन्होने कहा कि नोटबंदी के दौरान हुए भ्रष्टाचार को लेकर कई बार आपको पत्र लिखकर जमीनी सच्चाई से रूबरू कराने की कोशिश की, मगर कार्रवाई की जगह उल्टे आपकी नाराजगी का शिकार हो गया। अजय अग्रवाल ने कहा है कि रायबरेली चुनाव इतिहास में बीजेपी की तरफ से सबसे ज्यादा एक लाख तिहत्तर हजार सात सौ इक्कीस वोट प्राप्त कर मैने गांधी परिवार के गढ़ में पार्टी की प्रतिष्ठा बढ़ाई। फिर भी मेरा टिकट काटकर एक दागी छवि के प्रत्याशी को इस बार बीजेपी ने रायबरेली से टिकट दिया है. मेरा दावा है कि पार्टी प्रत्याशी को 50 हजार से ज्यादा वोट नहीं मिलेगा।