BJP ने लीक किए अनुराग कश्यप के पुराने पत्र, कहा- भीख नहीं मिली तो गाली दे रहे

anurag
BJP ने लीक किए अनुराग कश्यप के पुराने पत्र, कहा- भीख नहीं मिली तो गाली दे रहे

नई दिल्ली। डायरेक्टर और प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप आजकल सोशल मीडिया पर जबरदस्त सक्रियता दिखा रहे हैं। वह नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ अपना विरोध सोशल मीडिया के जरिए व्यक्त कर रहे हैं। इस बीच भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने एक चिठ्ठी शेयर की है।

Bjp Leaked An Old Letter Of Anurag Kashyap Saying Begging If Not Begging :

चिठ्ठी को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने ट्वीट किया है। शलभ ने लेटर्स की कॉपी शेयर करते हुए लिखा, “पिटी हुई फिल्मों के लिए सरकारी भीख ना मिली तो अनुराग कश्यप कुंठित होकर गाली-गलौज पर उतर आए, कुछ सरकारें इनकी फ्लॉप फिल्मों पर भी करोड़ों देती थीं, यश भारती के पेंशन की शहद भी चटाती थीं, योगी जी ने मुफ्त की पेंशन बंद कर पैसा गरीबों, विधवाओं, किसानों में बांट दिया, यही चिढ़ है इनकी।”

अनुराग कश्‍यप ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर इस मामले में कुछ अन्‍य ट्वीट किए हैं।

बता दें कि यूपी में समाजवादी पार्टी की अखिलेश यादव की सरकार यश भारती सम्‍मान के साथ 50 हजार रुपये पेंशन भी देती थी। इसके बाद यूपी में बीजेपी सरकार आने के बाद इस पेंशन को बंद कर दिया है। 

नई दिल्ली। डायरेक्टर और प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप आजकल सोशल मीडिया पर जबरदस्त सक्रियता दिखा रहे हैं। वह नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ अपना विरोध सोशल मीडिया के जरिए व्यक्त कर रहे हैं। इस बीच भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने एक चिठ्ठी शेयर की है। चिठ्ठी को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने ट्वीट किया है। शलभ ने लेटर्स की कॉपी शेयर करते हुए लिखा, "पिटी हुई फिल्मों के लिए सरकारी भीख ना मिली तो अनुराग कश्यप कुंठित होकर गाली-गलौज पर उतर आए, कुछ सरकारें इनकी फ्लॉप फिल्मों पर भी करोड़ों देती थीं, यश भारती के पेंशन की शहद भी चटाती थीं, योगी जी ने मुफ्त की पेंशन बंद कर पैसा गरीबों, विधवाओं, किसानों में बांट दिया, यही चिढ़ है इनकी।" अनुराग कश्‍यप ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर इस मामले में कुछ अन्‍य ट्वीट किए हैं। बता दें कि यूपी में समाजवादी पार्टी की अखिलेश यादव की सरकार यश भारती सम्‍मान के साथ 50 हजार रुपये पेंशन भी देती थी। इसके बाद यूपी में बीजेपी सरकार आने के बाद इस पेंशन को बंद कर दिया है।