भाजपा के वरिष्ठ विधायक ने योगी सरकार के इस मंत्रालय पर लगाये भृष्टाचार के आरोप

लखनऊ। यूपी के आगरा शहर से भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर नगर निगम को लेकर बड़ा खुलासा किया है। भाजपा विधायक ने पत्र में आगरा नगर निगम में अधिकारियों की कमीशनखोरी का जिक्र करते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं। जगन प्रसाद ने ये पत्र सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ ही डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, शहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना और राज्यपाल राम नाईक को भी भेजा है।

Bjp Mla Jagan Prasad Garg Allegations Of Corruption Imposed On Agra Municipal Corporation :

4 मई को लिखे गए इस पत्र में विधायक ने मंत्री को संबोधित करते हुए लिखा है कि नगर निगम के अधिकारी किस तरह से कमीशन ले रहे हैं। उन्होंने अलग-अलग अधिकारियों के कमीशन का हिस्सा भी विस्तार से बताया है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि आगरा नगर निगम में कमीशनखोरी 15 प्रतिशत से बढ़कर 27 प्रतिशत हो गई है। उन्होने बताया कि नगर निगम में पहले ठेकेदारों से पहले 15 प्रतिशत कमीशन लिया जाता था, लेकिन अब ये 27 प्रतिशत वसूला जाने लगा है।
विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने अपने पत्र में कमीशन का ये ब्योरा देते हुए लिखा कि ऐसा होने से निर्माण कार्य गुणवत्ता से नहीं हो रहे हैं। इनके कारण आगरा नगर निगम के ठेकेदार बहुत परेशान हैं।

लखनऊ। यूपी के आगरा शहर से भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर नगर निगम को लेकर बड़ा खुलासा किया है। भाजपा विधायक ने पत्र में आगरा नगर निगम में अधिकारियों की कमीशनखोरी का जिक्र करते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं। जगन प्रसाद ने ये पत्र सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ ही डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, शहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना और राज्यपाल राम नाईक को भी भेजा है। 4 मई को लिखे गए इस पत्र में विधायक ने मंत्री को संबोधित करते हुए लिखा है कि नगर निगम के अधिकारी किस तरह से कमीशन ले रहे हैं। उन्होंने अलग-अलग अधिकारियों के कमीशन का हिस्सा भी विस्तार से बताया है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि आगरा नगर निगम में कमीशनखोरी 15 प्रतिशत से बढ़कर 27 प्रतिशत हो गई है। उन्होने बताया कि नगर निगम में पहले ठेकेदारों से पहले 15 प्रतिशत कमीशन लिया जाता था, लेकिन अब ये 27 प्रतिशत वसूला जाने लगा है। विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने अपने पत्र में कमीशन का ये ब्योरा देते हुए लिखा कि ऐसा होने से निर्माण कार्य गुणवत्ता से नहीं हो रहे हैं। इनके कारण आगरा नगर निगम के ठेकेदार बहुत परेशान हैं।