उन्नाव गैंगरेप मामला: सरकार के लाडले विधायक ने मीडियाकर्मियों से की हाथापाई

bjp vidhayak maarpeet
उन्नाव गैंगरेप मामला: सरकार के लाडले विधायक ने मीडियाकर्मियों से की हाथापाई

लखनऊ। हजतरगंज स्थित एसएसपी आवास के बाहर बुधवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे भारी पुलिसबल देख मीडियाकर्मियों ने कारण पूछा तो पता चला कि उन्नाव गैंगरेप के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप​ सिंह सेंगर सरेंडर करने आ रहे है। इस पर वहां मीडिया का जमावड़ा लग गया। कुछ देर बाद वहां पहुंचे कुलदीप सिंह सेंगर से जब मीडियाकर्मियों ने बात करने का प्रयास किया विधायक के गुर्गों ने बदसलूकी शुरु कर दी। इस दौरान वहां खड़ी पुलिस भी मूकदर्शक बनी रही। जब पत्रकारों ने इसका विरोध किया तो हजरतगंज इंस्पेक्टर आनंद शाही भी विधायक के गुर्गों को रोंकने के बजाए पत्रकारों पर ही बिफर पड़े। ये देख विधायक के साथ ही गुर्गो के हौसले और बुलंद हो गए और पत्रकारों से हाथापाई पर उतारू हो गए।

Bjp Mla Kuldeep Singh Ne Media Se Ki Marpit :

अब सोंचने वाली बात ये हैं कि दुराचार का आरोपी पत्रकारों से अभद्रता व हाथापाई करता हैं और योगी सरकार की पुलिस उसे रोंकने के बजाए पत्रकारों के विरोध में खड़ी हो जाती है। इससे ये साबित होता है कि सत्ताधारी पार्टी के विधायक को पुलिस का संरक्षण मिला हुआ है। जिसके चलते वो उसके हौसले और भी बुलंद है।

आपकों बता दें कि दुराचारी विधायक द्वारा सरेंडर करने का मामला मात्र दिखावा था। वो उस वक्त एसएसपी आवास पर सरेंडर करने पहुंचा था, जब​ एसएसपी दीपक कुमार एयरपोर्ट पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के प्रोटोकाल पर लगे थे। अब सीनियर अधिकारी की गैरमौजूदगी में वहां सरेंडर करने जाना और फिर वहां पहुंचते ही मीडियाकर्मियों से हाथापाई करना। इससे साबित होता हैं कि आरोपी विधायक सिर्फ नाटक करने वहां पहुंचा था। फिलहाल वहां मामला बढ़ता देख पुलिस ने आनन—फानन में कुलदीप सिंह सेंगर को वहां से रवाना कर दिया।

बड़बोले विधायक ने कहा, आपके चैनल पर चलकर बैठूं

आपकों बता दें कि गैंगरेप के आरोपी विधायक ने पहले तो एसएसपी कैम्प आफिस में तैनात मीडियाकर्मियों से अभद्रता व हाथापाई की। लेकिन मीडियाकर्मी लामबंद होने लगे तो उन पर तंज कसते हुए कुलदीप सिंह सेंगर बोला कि आप (मीडिया) जहां कहो वहीं चलें। आपके चैनल पर चलकर बैठें…। मैं चैनल के साथियों के कहने से यहां आया हूं। चैनल के साथी जहां कहेंगे वहां चलूंगा…। नमस्ते…। ये बोलते हुए वों वहां से गाड़ी की तरफ बढ़ गया।

लखनऊ। हजतरगंज स्थित एसएसपी आवास के बाहर बुधवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे भारी पुलिसबल देख मीडियाकर्मियों ने कारण पूछा तो पता चला कि उन्नाव गैंगरेप के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप​ सिंह सेंगर सरेंडर करने आ रहे है। इस पर वहां मीडिया का जमावड़ा लग गया। कुछ देर बाद वहां पहुंचे कुलदीप सिंह सेंगर से जब मीडियाकर्मियों ने बात करने का प्रयास किया विधायक के गुर्गों ने बदसलूकी शुरु कर दी। इस दौरान वहां खड़ी पुलिस भी मूकदर्शक बनी रही। जब पत्रकारों ने इसका विरोध किया तो हजरतगंज इंस्पेक्टर आनंद शाही भी विधायक के गुर्गों को रोंकने के बजाए पत्रकारों पर ही बिफर पड़े। ये देख विधायक के साथ ही गुर्गो के हौसले और बुलंद हो गए और पत्रकारों से हाथापाई पर उतारू हो गए।अब सोंचने वाली बात ये हैं कि दुराचार का आरोपी पत्रकारों से अभद्रता व हाथापाई करता हैं और योगी सरकार की पुलिस उसे रोंकने के बजाए पत्रकारों के विरोध में खड़ी हो जाती है। इससे ये साबित होता है कि सत्ताधारी पार्टी के विधायक को पुलिस का संरक्षण मिला हुआ है। जिसके चलते वो उसके हौसले और भी बुलंद है।आपकों बता दें कि दुराचारी विधायक द्वारा सरेंडर करने का मामला मात्र दिखावा था। वो उस वक्त एसएसपी आवास पर सरेंडर करने पहुंचा था, जब​ एसएसपी दीपक कुमार एयरपोर्ट पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के प्रोटोकाल पर लगे थे। अब सीनियर अधिकारी की गैरमौजूदगी में वहां सरेंडर करने जाना और फिर वहां पहुंचते ही मीडियाकर्मियों से हाथापाई करना। इससे साबित होता हैं कि आरोपी विधायक सिर्फ नाटक करने वहां पहुंचा था। फिलहाल वहां मामला बढ़ता देख पुलिस ने आनन—फानन में कुलदीप सिंह सेंगर को वहां से रवाना कर दिया।

बड़बोले विधायक ने कहा, आपके चैनल पर चलकर बैठूं

आपकों बता दें कि गैंगरेप के आरोपी विधायक ने पहले तो एसएसपी कैम्प आफिस में तैनात मीडियाकर्मियों से अभद्रता व हाथापाई की। लेकिन मीडियाकर्मी लामबंद होने लगे तो उन पर तंज कसते हुए कुलदीप सिंह सेंगर बोला कि आप (मीडिया) जहां कहो वहीं चलें। आपके चैनल पर चलकर बैठें…। मैं चैनल के साथियों के कहने से यहां आया हूं। चैनल के साथी जहां कहेंगे वहां चलूंगा…। नमस्ते…। ये बोलते हुए वों वहां से गाड़ी की तरफ बढ़ गया।