आत्मसमर्पण पर भाजपा विधायक बोले, मीडिया को बताने आया हूं कि भागा नहीं

BJP MlA Kuldeep Sengar
आत्मसमर्पण पर भाजपा विधायक बोले, मीडिया को बताने आया हूं कि भागा नहीं

लखनऊ । नाबालिग से गैंगरेप के कथित आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर बुधवार को देर रात आत्मसमर्पण की खबरों के बीच एसएसपी लखनऊ के आवास तक पूरे दलबल के साथ पहुंचे। एसएसपी आवास के भीतर जाकर बाहर निकले सेंगर ने अपने आत्मसमर्पण की खबरों का खंडन करते हुए कहा कि वह किसी मामले में आरोपी नहीं हैं, ऐसे में उनके आत्मसमर्पण की कोई वजह ही नहीं बनती। उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए मीडिया पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि कुछ लोगों ने उनके खिलाफ एक पक्षीय खबरें चलाई हैं। चेहरे छुपा छुपाकर लोगों के बयान दिखाए हैं। अब खबरें चलाई जा रहीं हैं कि विधायक भाग गए हैं। ऐसे ही लोगों को जवाब देने के लिए वह एसएसपी से मुलाकात करने आए थे। वह बताना चाहते थे कि वह कहीं भागे नहीं हैं। लोगों के बीच में हैं और उन्हें भागने की कोई जरूरत नहीं है।

Bjp Mla Kuldeep Singh Sengar Denied To Surrender Says I Am Not Hiding :

एसएसपी आवास के बाहर सैकड़ों समर्थकों के हुजूम के साथ पहुंचे विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के साथ आए लोगों ने वहां मौजूद मीडियाकर्मियों के साथ बद्सलूकी भी की। एक समाचार चैनल के पत्रकार के साथ धक्कामुक्की और खींचतान की गई। हालांकि बाद में विधायक ने बीच बचाव किया।

एसआईटी की प्रारंभिक जांच में विधायक पर रेप के आरोप झूठे —

एडीजी जोन राजीव कृष्णा के नेतृत्व में कुलदीप सिंह सेंगर के गांव मांखी पहुंची एसआईटी टीम की जांच में विधायक के ऊपर लगे गैंगरेप के आरोप गलत पाए गए हैं। एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में इस बात का जिक्र भी किया है। हालांकि एसआईटी को ऐसे तथ्य भी मिले हैं जिनके आधार पर यह कहा जा सकता है कि विधायक के प्रभाव में आकर उन्नाव पुलिस ने पीड़ित परिवार की शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया।

लखनऊ । नाबालिग से गैंगरेप के कथित आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर बुधवार को देर रात आत्मसमर्पण की खबरों के बीच एसएसपी लखनऊ के आवास तक पूरे दलबल के साथ पहुंचे। एसएसपी आवास के भीतर जाकर बाहर निकले सेंगर ने अपने आत्मसमर्पण की खबरों का खंडन करते हुए कहा कि वह किसी मामले में आरोपी नहीं हैं, ऐसे में उनके आत्मसमर्पण की कोई वजह ही नहीं बनती। उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए मीडिया पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि कुछ लोगों ने उनके खिलाफ एक पक्षीय खबरें चलाई हैं। चेहरे छुपा छुपाकर लोगों के बयान दिखाए हैं। अब खबरें चलाई जा रहीं हैं कि विधायक भाग गए हैं। ऐसे ही लोगों को जवाब देने के लिए वह एसएसपी से मुलाकात करने आए थे। वह बताना चाहते थे कि वह कहीं भागे नहीं हैं। लोगों के बीच में हैं और उन्हें भागने की कोई जरूरत नहीं है।एसएसपी आवास के बाहर सैकड़ों समर्थकों के हुजूम के साथ पहुंचे विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के साथ आए लोगों ने वहां मौजूद मीडियाकर्मियों के साथ बद्सलूकी भी की। एक समाचार चैनल के पत्रकार के साथ धक्कामुक्की और खींचतान की गई। हालांकि बाद में विधायक ने बीच बचाव किया।

एसआईटी की प्रारंभिक जांच में विधायक पर रेप के आरोप झूठे —

एडीजी जोन राजीव कृष्णा के नेतृत्व में कुलदीप सिंह सेंगर के गांव मांखी पहुंची एसआईटी टीम की जांच में विधायक के ऊपर लगे गैंगरेप के आरोप गलत पाए गए हैं। एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में इस बात का जिक्र भी किया है। हालांकि एसआईटी को ऐसे तथ्य भी मिले हैं जिनके आधार पर यह कहा जा सकता है कि विधायक के प्रभाव में आकर उन्नाव पुलिस ने पीड़ित परिवार की शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया।