लोकसभा में सवाल पूछना ही भूल गए बीजेपी सांसद रवि किशन, स्पीकर ने समय समाप्ति पर दिया बैठने का आदेश

ravi kishan
लोकसभा में सवाल पूछना ही भूल गए बीजेपी सांसद रवि किशन, स्पीकर ने समय समाप्ति पर दिया बैठने का आदेश

नई दिल्ली। फिल्म अभिनेता और गोरखपुर लोकसभा सीट से सांसद रवि किशन ने मंगलवार को लोकसभा ने अखिलेश यादव के उस बयान पर पलटवार किया, जिसमें उन्होने कहा कि रवि किशन को सपा सरकार के दौरान यश भारती से सम्मानित किया गया था, यही नहीं उन्हे पचास हजार रूपए पेंशन भी मिलती है।

Bjp Mp Ravi Kishan Forgot To Ask Question In Loksabha Speaker Ordered To Sit On Time Expiry :

बीजेपी सांसद रवि किशन ने कहा कि वह स्पष्ट करना चाहते हैं कि उत्तर प्रदेश में सपा या बसपा किसी सरकार ने उन्हें इस तरह का कोई सम्मान कभी नहीं दिया। बता दें कि रवि किशन इतना कहकर बैठ गए तो लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने उन्हें याद दिलाया कि उन्हें सप्लीमेंट्री सवाल पूछना था। इस पर उन्होने कहा कि सवाल पूछना भूल गया। उन्होंने सवाल पूछने की कोशिश की लेकिन इस बार लोकसभा अध्यक्ष ने समय खत्म हो जाने का उल्लेख करते हुए उन्हें बैठ जाने का निर्देश दे दिया।

बता दें कि प्रश्नकाल के दौरान पद्म पुरस्कारों से जुड़ा पूरक प्रश्न पूछने के दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की पूर्व सपा सरकार विभिन्न क्षेत्रों में योगदान देने वालों को ‘यश भारती’ सम्मान देती थी और पेंशन के तौर पर 50 हजार रुपये मासिक की राशि भी दी जाती थी। इसके आगे उन्होंने जोड़ा कि इस सदन में मौजूद सदस्य रवि किशन को भी ‘यश भारती’ मिल चुका है। जिसके बाद उन्होने कहा कि क्या केंद्र सरकार भी पद्म पुरस्कारों से सम्मानित लोगों के लिए कोई सम्मान राशि देना शुरू करेगी।

नई दिल्ली। फिल्म अभिनेता और गोरखपुर लोकसभा सीट से सांसद रवि किशन ने मंगलवार को लोकसभा ने अखिलेश यादव के उस बयान पर पलटवार किया, जिसमें उन्होने कहा कि रवि किशन को सपा सरकार के दौरान यश भारती से सम्मानित किया गया था, यही नहीं उन्हे पचास हजार रूपए पेंशन भी मिलती है। बीजेपी सांसद रवि किशन ने कहा कि वह स्पष्ट करना चाहते हैं कि उत्तर प्रदेश में सपा या बसपा किसी सरकार ने उन्हें इस तरह का कोई सम्मान कभी नहीं दिया। बता दें कि रवि किशन इतना कहकर बैठ गए तो लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने उन्हें याद दिलाया कि उन्हें सप्लीमेंट्री सवाल पूछना था। इस पर उन्होने कहा कि सवाल पूछना भूल गया। उन्होंने सवाल पूछने की कोशिश की लेकिन इस बार लोकसभा अध्यक्ष ने समय खत्म हो जाने का उल्लेख करते हुए उन्हें बैठ जाने का निर्देश दे दिया। बता दें कि प्रश्नकाल के दौरान पद्म पुरस्कारों से जुड़ा पूरक प्रश्न पूछने के दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की पूर्व सपा सरकार विभिन्न क्षेत्रों में योगदान देने वालों को ‘यश भारती' सम्मान देती थी और पेंशन के तौर पर 50 हजार रुपये मासिक की राशि भी दी जाती थी। इसके आगे उन्होंने जोड़ा कि इस सदन में मौजूद सदस्य रवि किशन को भी 'यश भारती' मिल चुका है। जिसके बाद उन्होने कहा कि क्या केंद्र सरकार भी पद्म पुरस्कारों से सम्मानित लोगों के लिए कोई सम्मान राशि देना शुरू करेगी।