BJP सांसद बोले- केजरीवाल सरकार मस्जिद के इमाम को देती है पैसे पर मंदिर के पंडित को नहीं

bjp mp pravesh verma
BJP सांसद बोले- केजरीवाल सरकार मस्जिद के इमाम को देती है पैसे पर मंदिर के पंडित को नहीं

नई दिल्ली। सोमवार को संसद के दोनो सदनो में विपक्ष ने जमकर हंगामा काटा, लोकसभा में जामिया में चली गोली को लेकर विपक्ष ने सरकार को पूरी तरह से घेरने की कोशिश की वहीं लोकसभा में बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने पलटवार करते हुए विपक्ष पर जमकर हमले किये हैं। उन्होने केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली सरकार मस्जिद के इमाम को पैसे देती है पर मंदिर के पंडित को नहीं देती।

Bjp Mp Said Kejriwal Government Gives Money To Imam Of Mosque But Not To Temple Pundit :

आपको बता दें कि 31 जनवरी से शुरु हुए बजट सत्र में पक्ष और विपक्ष के बीच तनाव की स्थिति बरकरार है। जहां एक तरफ विपक्ष जामिया और शाहीन बाग के मुद्दो पर सरकार को घेरने में लगी हैं वहीं बीजेपी सांसदो ने भी मोर्चा संभाल लिया है। दिल्ली से बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने लोकसभा में विपक्ष पर निशाना बनाते हुए कहा ” दिल्ली सरकार मस्जिद के इमाम को पैसे देती है और मंदिर के पंडित को नहीं देती है। उन्होने कहा कि देश के लोग किसी एक परिवार के जागीर नहीं है।

उन्होने कहा कि विपक्ष के लोग हमें संविधान सीखा रहे है। एक तरफ कहते है देश की जनादेश सर्वोपरि है, दूसरी तरफ इनके लोग अध्यादेश को फाड़ देते हैं। जब सिखों को मारा जाता है उस समय इनका संविधान कहां था ? इन्होंने राम को एक धर्म के साथ जोड़ दिया है, इनलोगो ने संविधान को भी सांप्रदायिक कर दिया। जब से सरकार बनी है तबसे इनको दुख हो रहा है।

उन्होने कहा कि ये लोग पीएम तक पर कुछ भी बोल देते है। उन्हे कभी मौत का सौदागर बोलते हैं तो कभी कुछ और। हमें 303 सीट मिलीं, अगर आप कहते है हम बुरे है तो आप कितने बुरे हैं? राहुल गांधी पर व्यंग्य करते हुए उन्होंने कहा, हम ऐसे विपक्ष को कैसे खत्म करेंगे जहां राहुल स्टार प्रचारक है। हम मिस कर रहे है। हमारे आने से सब विपक्ष का भाईचारा बढ़ रहा है। इनको जवाब 2019 के चुनाव में मिल गया है।

प्रवेश वर्मा ने कहा कि मोदी सरकार सभी की है, किसी धर्म या प्रांत की नहीं है। सरकार ने ऐसी समस्या का समाधान किया जो दशकों से पड़ी हुई थी। हमारी सरकार वोट वैंक की राजनीति नहीं करती है। 1980 के बाद आज तक 40 हज़ार लोगों का कश्मीर में कत्लेआम हुआ है। आप वोट बैंक की राजनीति करते है, 370 हटाने से बहुत फर्क पड़ा है, विपक्ष को हर चीज में तकलीफ होती है। ये पहले 370 ,जीएसटी और राम मंदिर इसलिए नहीं लाये क्योंकि इनको वोट बैंक जाने का खतरा था।

इस दौरान उन्होन आम आदमी पार्टी पर भी जमकर हमला किया। उन्होने कहा, पहले एक को खांसी होती थी आज सबको प्रदूषण की वजह से हो रही है। दिल्ली की सरकार अपनी जिम्मेदारी भूल गयी है, केंद्र सरकार वह काम कर रही है। 1984 के दंगों के कातिलों को सलाखों के पीछे हमने भेजा है।

नई दिल्ली। सोमवार को संसद के दोनो सदनो में विपक्ष ने जमकर हंगामा काटा, लोकसभा में जामिया में चली गोली को लेकर विपक्ष ने सरकार को पूरी तरह से घेरने की कोशिश की वहीं लोकसभा में बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने पलटवार करते हुए विपक्ष पर जमकर हमले किये हैं। उन्होने केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली सरकार मस्जिद के इमाम को पैसे देती है पर मंदिर के पंडित को नहीं देती। आपको बता दें कि 31 जनवरी से शुरु हुए बजट सत्र में पक्ष और विपक्ष के बीच तनाव की स्थिति बरकरार है। जहां एक तरफ विपक्ष जामिया और शाहीन बाग के मुद्दो पर सरकार को घेरने में लगी हैं वहीं बीजेपी सांसदो ने भी मोर्चा संभाल लिया है। दिल्ली से बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने लोकसभा में विपक्ष पर निशाना बनाते हुए कहा " दिल्ली सरकार मस्जिद के इमाम को पैसे देती है और मंदिर के पंडित को नहीं देती है। उन्होने कहा कि देश के लोग किसी एक परिवार के जागीर नहीं है। उन्होने कहा कि विपक्ष के लोग हमें संविधान सीखा रहे है। एक तरफ कहते है देश की जनादेश सर्वोपरि है, दूसरी तरफ इनके लोग अध्यादेश को फाड़ देते हैं। जब सिखों को मारा जाता है उस समय इनका संविधान कहां था ? इन्होंने राम को एक धर्म के साथ जोड़ दिया है, इनलोगो ने संविधान को भी सांप्रदायिक कर दिया। जब से सरकार बनी है तबसे इनको दुख हो रहा है। उन्होने कहा कि ये लोग पीएम तक पर कुछ भी बोल देते है। उन्हे कभी मौत का सौदागर बोलते हैं तो कभी कुछ और। हमें 303 सीट मिलीं, अगर आप कहते है हम बुरे है तो आप कितने बुरे हैं? राहुल गांधी पर व्यंग्य करते हुए उन्होंने कहा, हम ऐसे विपक्ष को कैसे खत्म करेंगे जहां राहुल स्टार प्रचारक है। हम मिस कर रहे है। हमारे आने से सब विपक्ष का भाईचारा बढ़ रहा है। इनको जवाब 2019 के चुनाव में मिल गया है। प्रवेश वर्मा ने कहा कि मोदी सरकार सभी की है, किसी धर्म या प्रांत की नहीं है। सरकार ने ऐसी समस्या का समाधान किया जो दशकों से पड़ी हुई थी। हमारी सरकार वोट वैंक की राजनीति नहीं करती है। 1980 के बाद आज तक 40 हज़ार लोगों का कश्मीर में कत्लेआम हुआ है। आप वोट बैंक की राजनीति करते है, 370 हटाने से बहुत फर्क पड़ा है, विपक्ष को हर चीज में तकलीफ होती है। ये पहले 370 ,जीएसटी और राम मंदिर इसलिए नहीं लाये क्योंकि इनको वोट बैंक जाने का खतरा था। इस दौरान उन्होन आम आदमी पार्टी पर भी जमकर हमला किया। उन्होने कहा, पहले एक को खांसी होती थी आज सबको प्रदूषण की वजह से हो रही है। दिल्ली की सरकार अपनी जिम्मेदारी भूल गयी है, केंद्र सरकार वह काम कर रही है। 1984 के दंगों के कातिलों को सलाखों के पीछे हमने भेजा है।