भाजपा के ‘शत्रु’ का नीतीश पर तंज, कहा- काम करो, नहीं तो आ रहा है तेजस्वी रूपी ‘अर्जुन’

बिहार। भाजपा के असंतुष्ट सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने बिहार के लिये विशेष दर्जे की मांग को आज बकवास और आम चुनावों से पहले इसे महज घड़ियाली आंसू करार दिया है। राज्य के लिए यह मांग जेडीयू और उनकी अपनी पार्टी के अलावा लोजपा जैसी उसकी सहयोगी पार्टियों द्वारा उठाई जा रही है। सिन्हा ने ट्वीटर पर लिखा है, ‘एनडीए में शामिल मेरे दोस्त बिहार के लिये कुछ काम करना शुरू करो नहीं तो अर्जुन यानी तेजस्वी यादव आपकी जगह लेने के लिये तैयार है। तेजस्वी यादव की चुनौती अब बिहार के हर कोने से गूंज रही है।

Bjp Mp Shatrughan Sinha Slams Bihar Cm Nitish Kumar :

सिन्हा ने कई ट्वीट कर नीतीश सरकार पर आरोप लगाया था कि बिहार में ‘प्रदर्शन से ज्यादा प्रचार पर जोर है’, जहां एनडीए करीब एक साल के लिए ही सत्ता में रहने वाली है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘जैसे-जैसे आम चुनाव दस्तक देना शुरू कर रहे हैं वैसे-वैसे घड़ियाली आंसू बहने शुरू हो गए हैं और नाटक फिर शुरू हो गया है। बिहार में सत्तारूढ़ गठबंधन केंद्र की अपनी ही राजग सरकार से राज्य के लिए एक बार फिर से विशेष दर्जे की मांग कर रहा है और वह भी खुलेआम।’

शत्रुघ्न सिन्हा की यह टिप्पणी मुख्यमंत्री एवं जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार की उस हालिया टिप्पणी की पृष्ठभूमि में आई है जिसमें नीतीश कुमार ने बिहार के लिये एक बार फिर विशेष राज्य के दर्जे की मांग की थी और संकेत दिया था कि यह मांग 15 वें वित्त आयोग के समक्ष रखी जायेगी।

उनकी मांग का उप मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी एवं केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने भी समर्थन किया। आपको बता दें रामविलास पासवान लोजपा के प्रमुख हैं। हालांकि तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट कर इसका विरोध किया था और कहा था कि ‘नीतीश कुमार क्या डोनाल्ड ट्रंप से बिहार के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रहे हैं।’

बिहार। भाजपा के असंतुष्ट सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने बिहार के लिये विशेष दर्जे की मांग को आज बकवास और आम चुनावों से पहले इसे महज घड़ियाली आंसू करार दिया है। राज्य के लिए यह मांग जेडीयू और उनकी अपनी पार्टी के अलावा लोजपा जैसी उसकी सहयोगी पार्टियों द्वारा उठाई जा रही है। सिन्हा ने ट्वीटर पर लिखा है, 'एनडीए में शामिल मेरे दोस्त बिहार के लिये कुछ काम करना शुरू करो नहीं तो अर्जुन यानी तेजस्वी यादव आपकी जगह लेने के लिये तैयार है। तेजस्वी यादव की चुनौती अब बिहार के हर कोने से गूंज रही है। सिन्हा ने कई ट्वीट कर नीतीश सरकार पर आरोप लगाया था कि बिहार में 'प्रदर्शन से ज्यादा प्रचार पर जोर है', जहां एनडीए करीब एक साल के लिए ही सत्ता में रहने वाली है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था, 'जैसे-जैसे आम चुनाव दस्तक देना शुरू कर रहे हैं वैसे-वैसे घड़ियाली आंसू बहने शुरू हो गए हैं और नाटक फिर शुरू हो गया है। बिहार में सत्तारूढ़ गठबंधन केंद्र की अपनी ही राजग सरकार से राज्य के लिए एक बार फिर से विशेष दर्जे की मांग कर रहा है और वह भी खुलेआम।' शत्रुघ्न सिन्हा की यह टिप्पणी मुख्यमंत्री एवं जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार की उस हालिया टिप्पणी की पृष्ठभूमि में आई है जिसमें नीतीश कुमार ने बिहार के लिये एक बार फिर विशेष राज्य के दर्जे की मांग की थी और संकेत दिया था कि यह मांग 15 वें वित्त आयोग के समक्ष रखी जायेगी। उनकी मांग का उप मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी एवं केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने भी समर्थन किया। आपको बता दें रामविलास पासवान लोजपा के प्रमुख हैं। हालांकि तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट कर इसका विरोध किया था और कहा था कि 'नीतीश कुमार क्या डोनाल्ड ट्रंप से बिहार के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रहे हैं।'