राज्यसभा उपचुनाव के लिए BJP ने जयप्रकाश निषाद को बनाया उम्मीदवार, योगी सरकार में हैं मंत्री

jay prkash nishad
राज्यसभा उपचुनाव के लिए BJP ने जयप्रकाश निषाद को बनाया उम्मीदवार, योगी सरकार में हैं मंत्री

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने 24 अगस्त को होने वाले राज्यसभा उपचुनाव के लिए जयप्रकाश निषाद को उम्मीदवार घोषिता किया है। यूपी में राज्यसभा का उप चुनाव समाजवादी पार्टी के नेता बेनी प्रसाद वर्मा के निधन के कारण खाली सीट पर हो रहा है।

Bjp Nominates Jayaprakash Nishad As Candidate For Rajya Sabha By Election Minister In Yogi Government :

बता दें कि राज्यसभा की चुनाव प्रक्रिया के अनुसार, उपचुनाव वाली सीटों पर भाजपा के उम्मीदवार की जीत तय है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि भाजपा किसको प्रत्याशी घोषित करेगी। गौरतलब है कि, जयप्रकाश निषाद देवरिया के रुद्रपुर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक और प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री है।

भाजपा ने जयप्रकाश निषाद को राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाकर पिछड़ों पर दांव लगाया है। जयप्रकाश निषाद का कार्यकाल पांच मई 2022 तक रहेगा। प्रदेश सरकार में पशुधन विकास राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद कोरोना के कारण लॉकडाउन के बाद रुद्रपुर क्षेत्र में अपने पैतृक गांव लक्ष्मीपुर में ही रह रहे हैं। मई के अंतिम हफ्ते में वह बाथरूम में फिसल गए थे। जिसके कारण कूल्हे की हड्डी टूट गई थी।

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने 24 अगस्त को होने वाले राज्यसभा उपचुनाव के लिए जयप्रकाश निषाद को उम्मीदवार घोषिता किया है। यूपी में राज्यसभा का उप चुनाव समाजवादी पार्टी के नेता बेनी प्रसाद वर्मा के निधन के कारण खाली सीट पर हो रहा है। बता दें कि राज्यसभा की चुनाव प्रक्रिया के अनुसार, उपचुनाव वाली सीटों पर भाजपा के उम्मीदवार की जीत तय है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि भाजपा किसको प्रत्याशी घोषित करेगी। गौरतलब है कि, जयप्रकाश निषाद देवरिया के रुद्रपुर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक और प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री है। भाजपा ने जयप्रकाश निषाद को राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाकर पिछड़ों पर दांव लगाया है। जयप्रकाश निषाद का कार्यकाल पांच मई 2022 तक रहेगा। प्रदेश सरकार में पशुधन विकास राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद कोरोना के कारण लॉकडाउन के बाद रुद्रपुर क्षेत्र में अपने पैतृक गांव लक्ष्मीपुर में ही रह रहे हैं। मई के अंतिम हफ्ते में वह बाथरूम में फिसल गए थे। जिसके कारण कूल्हे की हड्डी टूट गई थी।