1. हिन्दी समाचार
  2. चुनाव नहीं लड़ने के लिए बीजेपी ने दिया था 50 करोड़ का ऑफर : तेज बहादुर यादव

चुनाव नहीं लड़ने के लिए बीजेपी ने दिया था 50 करोड़ का ऑफर : तेज बहादुर यादव

Bjp Offer Of 50 Crore For Not To Contest Against Pm Modi Said Tej Bahadur

By शिव मौर्या 
Updated Date

वाराणसी। बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव का वाराणसी से नामांकन रद्द होने के बाद उन्होंने भाजपा पर सनसनीखेज आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि भाजपा उन्हें वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ने के लिए 50 करोड़ रुपये का ऑफर दिया था। उनका कहना है कि निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल करने के बाद से ही भाजपा के कुछ लोग उनके संपर्क में थे। हालांकि इस दौरान उन्होंने भाजपा नेताओं के नामों का खुलासा नहीं किया है। उन्होंने अपनी जान का खतरा बताया है।

पढ़ें :- महिला खिलाड़ी ने तोड़ा महेंद्र सिंह धोनी का रिकॉर्ड, जानिए पूरा मामला

नामांकन खारिज होने पर कहा कि पहले से ही आशंका थी कि पर्चा खारिज कराने के लिए भाजपा सारे हथकंडे अपनाएगी। इसलिए ही मेरे साथ शालिनी यादव ने गठबंधन प्रत्‍याशी के रूप में नामांकन किया था। नामांकन रद्द होने के बाद से तेज बहादुर सपा प्रत्याशी शालिनी यादव का प्रचार करने में जुटे हैं। बीएसएफ से बर्खास्त होने के बाद तेज बहादुर यादव ने वाराणसी से प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान किया था, जिसके बाद से वह लगातार तैयारी कर रहे थे।

तेज बहादुर का नामांकन बुधवार को रद्द कर दिया गया था। उन्होंने बीजेपी पर सनसनीखेज आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उन्हें वाराणसी से चुनाव लड़ने के लिए बीजेपी ने हर कोशिश की थी। उन्हें रुपयों का भी ऑफर दिया गया लेकिन उन्होंने मना कर दिया। ऑफर देने वालों का नाम उन्होंने बताने से इनकार करते हुए कहा कि नाम बताने पर उनकी जान को खतरा है।

गुरुवार वह मीडिया के सामने आये थे। उन्होंने कहा कि पहले ही आाशंका थी कि उनका पर्चा खारिज कर दिया जायेगा। इसके लिए बीजेपी सभी हथकंडे अपनाएगी, इसलिए ही उनके साथ शालिनी यादव ने भी सपा-बसपा गठबंधन प्रत्याशी के रूप में नामांकन किया था। गौरतलब है कि गुरुवार को सपा प्रत्याशी शालिनी यादव ने तेज प्रताप यादव को राखी बांधी। तेज बहादुर ने कहा कि पांच भाई हैं लेकिन बहन नहीं थी। शालिनी के रूप में उन्हें बहन मिल गई है।

उन्होंने कहा कि बहन की जीत के लिए वह अपनी जान भी दांव पर लगा देंगे। तेज बहादुर पीएम मोदी के खिलाफ शालिनी यादव के लिए चुनाव प्रचार करेंगे। तेज ने कहा कि मैं वाराणसी की गलियों में पैदल घूम-घूमकर शालिनी यादव के समर्थन में मोदी जी के खिलाफ वोट मांगूंगा। शालिनी यादव ने राखी बांधने के बाद कहा कि मेरे लिए बड़े सौभाग्य की बात है। यह रिश्ता राजनीति से परे है और आजीवन बना रहेगा।

पढ़ें :- संसद के बाद कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, विपक्ष कर रहा था इसका विरोध

इसके साथ ही तेज बहादुर ने कहा कि पहले उन्हें प्रधानमंत्री पर भरोसा था लेकिन बाद में उन्हें पता लगा कि वह जैसे दिखते हैं वैसे हैं नहीं। उन्होंने कहा कि पहले उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया और फिर बेटे की हत्या करा दी गयी, जिसकी जांच भी नहीं कराई गई।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...