भाजपा ने बगावत के लिए दिया 15 करोड़ का आॅफर : गुजरात कांग्रेस

शक्ति सिंह गोहिल, गुजरात कांग्रेस
भाजपा ने बगावत के लिए दिया 15 करोड़ का आॅफर : गुजरात कांग्रेस

नई दिल्ली। गुजरात कांग्रेस के विधायकों में मची बगावत की होड़ भले ही थमी नजर आ रही हो लेकिन इसकी चर्चा अब भी सियासी गलियारों में हो रही है। कांग्रस ने बगावत को थामने के लिए भले ही अपने 44 विधायकों को कांग्रेस शासित कर्नाटक भेज कर चैन की सांस ली हो लेकिन वह कितनी कामयाब रहती है इसका परिणाम 8 अगस्त को होने वाले मतदान के बाद ही सामने आएंगे।

हालांकि इस दौरान कर्नाटक पहुंचे गुजरात कांग्रेस के 44 विधायकों ने रविवार को बेंगलुरू में मीडिया के सामने आकर अपना स्पष्टीकरण दिया। विधायकों का नेतृत्व कर रहे शक्ति सिंह गोहिल ने बताया कि गुजरात में भाजपा विपक्ष को कमजोर करने की हर संभव कोशिश कर रही है। साम, दाम, दंड और भेद हर पैतरा आजमाया जा रहा है। कांग्रेस के विधायकों को तोड़ने के लिए 15—15 करोड़ के आॅफर मिले हैं। भाजपा कांग्रेस के 22 विधायकों को तोड़ने की फिराक में थी।

प्रेस के सामने आए ​शक्ति सिंह ने बताया कि सभी विधायक बेंगलुरू के एक रिसार्ट में ठहरे हैं। सभी लोकतंत्र की रक्षा के लिए लड़ रहे हैं। इस दौरान उन्होंने विधायकों का मोबाइल जब्त किए जाने की बात से स्पष्ट इंकार कर दिया।

आपको बता दें कि गुजरात में 8 अगस्त को राज्यसभा की तीन सीटों लिए मतदान होना है। अगर विधायकों की संख्याबल की बात की जाए तो वर्तमान में बीजेपी के पास दो उम्मीदवारों को राज्यसभा भेजने का संख्या बल मौजूद है। इसके बावजूद बीजेपी ने अमित शाह और स्मृति ईरानी के अलावा कांग्रेस के बागी विधायक बलवंत सिंह राजपूत को भी अपना उम्मीदवार बना दिया है। कहा जा रहा है कि अगर कांग्रेस के 16 विधायक इस्तीफा दे देते हैं तो कांग्रेस के सीनियर नेता अहमद पटेल की राज्यसभा जाने की उम्मीदों पर पानी फिर सकता है। अहमद पटेल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के अहम सलाहकार माने जाते हैं।