नाराजगी : संजलि हत्याकांड के बाद आगरा में लगी भाजपा विरोधी होर्डिंग

sanjali murder case agra
नाराजगी : संजलि हत्याकांड के बाद आगरा में लगी भाजपा विरोधी होर्डिंग

आगरा। आगरा मे पेट्रोल छिड़ककर आग के हवाले की गई संजलि हत्याकांड के बाद आगरा बीजेपी विरोधी होर्डिंग लगने लगी है। इसके अलावा जस्टिस फॉर संजलि के होर्डिंग लगाए गए हैं। बता दें कि इन होर्डिंग में अखिलेश यादव व अन्य सपा नेताओं की तस्वीरें हैं। बीच में संजलि की तस्वीर है और लिखा है ‘जस्टिस फॉर संजलि। बेटी बचाओ, भाजपा भगाओ।’

Bjp Opponent Hording In Agra Over Sanjali Murder Case :

कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर लगे होंर्डिंग पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, सपा के एमएलसी दिलीप यादव और कार्यकर्ता विकास यादव की तस्वीर है। जिसमें संघ पर वार किया गया है। इसमें लिखा गया कि इन संघी की मानवता सिर्फ राजीनीतिक कारणों से जागती है। आगे लिखा कि नसीरुद्दीन शाह पर तांडव और संजलि की मौत पर मौन।’

गौरतलगब हो कि बीते 18 दिसंबर को स्कूल से दलित छात्रा संजलि ​को को उस समय आग के हवाले कर दिया गया जब​ वो स्कूल से लौट रही थी। उसे सफदरजंग अस्पताल दिल्ली में इलाज के लिए भर्ती कराया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया गया। 25 दिसंबर को एसएसपी ने इस केस का खुलासा करते हुए बताया कि संजलि के तहेरे भाई योगेश ने ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया था। योगेश ने 20 दिसंबर को आत्महत्या कर ली थी।

आगरा। आगरा मे पेट्रोल छिड़ककर आग के हवाले की गई संजलि हत्याकांड के बाद आगरा बीजेपी विरोधी होर्डिंग लगने लगी है। इसके अलावा जस्टिस फॉर संजलि के होर्डिंग लगाए गए हैं। बता दें कि इन होर्डिंग में अखिलेश यादव व अन्य सपा नेताओं की तस्वीरें हैं। बीच में संजलि की तस्वीर है और लिखा है 'जस्टिस फॉर संजलि। बेटी बचाओ, भाजपा भगाओ।' कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर लगे होंर्डिंग पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, सपा के एमएलसी दिलीप यादव और कार्यकर्ता विकास यादव की तस्वीर है। जिसमें संघ पर वार किया गया है। इसमें लिखा गया कि इन संघी की मानवता सिर्फ राजीनीतिक कारणों से जागती है। आगे लिखा कि नसीरुद्दीन शाह पर तांडव और संजलि की मौत पर मौन।' गौरतलगब हो कि बीते 18 दिसंबर को स्कूल से दलित छात्रा संजलि ​को को उस समय आग के हवाले कर दिया गया जब​ वो स्कूल से लौट रही थी। उसे सफदरजंग अस्पताल दिल्ली में इलाज के लिए भर्ती कराया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया गया। 25 दिसंबर को एसएसपी ने इस केस का खुलासा करते हुए बताया कि संजलि के तहेरे भाई योगेश ने ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया था। योगेश ने 20 दिसंबर को आत्महत्या कर ली थी।