रैली की भीड़ इस बात का संकेत है, ममता का शासन खत्म होने जा रहा है: अमित शाह

amit shah
रैली की भीड़ इस बात का संकेत है कि ममता का शासन खत्म होने जा रहा है: अमित शाह

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को कोलकाता में एक रैली को संबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, ‘रैली की भीड़ इस बात का संकेत है कि पश्चिम बंगाल से ममता बनर्जी का शासन खत्म होने जा रहा है।” अमित शाह ने कहा कि पहले इस रैली को रोकने की कोशिश की और अब पश्चिम बंगाल के सारे स्थानीय चैनलों को डाउन कर दिया गया है ताकि लोग इस रैली का प्रसारण न देख सकें।

Bjp President Amit Shah Rally Kolkata :

देश के करीब 70 फीसदी आबादी पर शासन कर रही भाजपा ने ‘मिशन बंगाल’ पर फोकस कर रखा है। बंगाल में शाह की दिलचस्पी बता रही है कि 42 लोकसभा क्षेत्रों वाले इस प्रदेश में असली सियासी संघर्ष भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच ही देखने को मिल सकती है। शाह ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, ममता जी भाजपा के लिए राष्‍ट्रहित पहले है और वोट की राजीनति बाद में है।

शाह ने कहा कि घुसपैठिये देश के लिए खतरा हैं। अगर उन्‍हें नहीं रोका गया तो यह देश के लिए खतरनाक होगा। शाह ने कहा कि ममता राज में बंगाल असुरक्षित है। उन्‍होंने जोर देकर कहा कि इस समस्‍या का एनआरसी मात्र समाधान है। बता दें कि पश्चिम बंगाल की सत्ता से दूर भाजपा, टीएमसी को चुनौती देने के लिए लंबे समय से तैयारी कर रही है।

भाजपा की नजर 2019 लोकसभा चुनाव पर है। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सूबे के मिदनापुर में रैली को संबोधित किया था। इस दौरान उनके निशाने पर टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी थी।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को कोलकाता में एक रैली को संबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, 'रैली की भीड़ इस बात का संकेत है कि पश्चिम बंगाल से ममता बनर्जी का शासन खत्म होने जा रहा है।" अमित शाह ने कहा कि पहले इस रैली को रोकने की कोशिश की और अब पश्चिम बंगाल के सारे स्थानीय चैनलों को डाउन कर दिया गया है ताकि लोग इस रैली का प्रसारण न देख सकें।देश के करीब 70 फीसदी आबादी पर शासन कर रही भाजपा ने 'मिशन बंगाल' पर फोकस कर रखा है। बंगाल में शाह की दिलचस्पी बता रही है कि 42 लोकसभा क्षेत्रों वाले इस प्रदेश में असली सियासी संघर्ष भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच ही देखने को मिल सकती है। शाह ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, ममता जी भाजपा के लिए राष्‍ट्रहित पहले है और वोट की राजीनति बाद में है।शाह ने कहा कि घुसपैठिये देश के लिए खतरा हैं। अगर उन्‍हें नहीं रोका गया तो यह देश के लिए खतरनाक होगा। शाह ने कहा कि ममता राज में बंगाल असुरक्षित है। उन्‍होंने जोर देकर कहा कि इस समस्‍या का एनआरसी मात्र समाधान है। बता दें कि पश्चिम बंगाल की सत्ता से दूर भाजपा, टीएमसी को चुनौती देने के लिए लंबे समय से तैयारी कर रही है।भाजपा की नजर 2019 लोकसभा चुनाव पर है। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सूबे के मिदनापुर में रैली को संबोधित किया था। इस दौरान उनके निशाने पर टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी थी।