1. हिन्दी समाचार
  2. यूपी विधानसभा उपचुनाव 2019: BJP ने जारी की 10 उम्मीदवारों की लिस्ट

यूपी विधानसभा उपचुनाव 2019: BJP ने जारी की 10 उम्मीदवारों की लिस्ट

Bjp Releases List Of 10 Candidates For By Elections To The Legislative Assembly Constituencies Of Uttar Pradesh

By रवि तिवारी 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा उपचुनाव (UP Assembly By Elections 2019) के लिए बीजेपी (BJP) ने उम्मीदवारों (BJP Candidate List) की घोषणा कर दी है। बीजेपी ने लखनऊ की कैंट सीट पर सुरेश तिवारी को चुनाव मैदान में उतारा है। फिलहाल यहां से वर्ष 2017 का चुनाव जीतने वाली डॉ. रीता बहुगुणा जोशी अब सांसद बन चुकी हैं। इस बार उपचुनाव में बसपा भी हाथ आजमा रही है, लिहाजा माना जा रहा है कि यहां चौतरफा मुकाबला देखने को मिल सकता है।

पढ़ें :- नशे में लड़के ने घर में घुसा दी ऑडी, फिर हुआ कुछ ऐसा... VIDEO

वहीं, मानिकपुर विधानसभा सीट से आनंद शुक्ला, जैदपुर (सुरक्षित) से अम्बरीष रावत, जलालपुर से राजेश सिंह, बलहा (सुरक्षित) से सरोज सोनकर और घोसी विधानसभा सीट से विजय राजभर को प्रत्याशी घोषित किया है। गौरतलब है कि बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के बाद हुए उपचुनाव में हमीरपुर सीट पर हाल ही में जीत हासिल की है।

कहा जा रहा है कि 10 सीटों पर रविवार को प्रत्याशी घोषित करने में बीजेपी ने न केवल राजनीतिक बल्कि स्थानीय और जातीय समीकरणों को भी वरीयता दी है। हालांकि, प्रतापगढ़ विधानसबा सीट को लेकर अभी भी पेंच फंसा हुआ है। सभी 11 विधानसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को मतदान होना है और 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे। 30 सितंबर नामांकन की आखिरी तारीख है  

11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव

बता दें कि यूपी में 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं। इनमें रामपुर, सहारनपुर की गंगोह, फिरोजाबाद की टूंडला, अलीगढ़ की इगलास, लखनऊ कैंट, बाराबंकी की जैदपुर, चित्रकूट की मानिकपुर, बहराइच की बलहा, प्रतापगढ़, हमीरपुर और अंबेडकरनगर की जलालपुर सीट शामिल है। इन 11 विधानसभा सीटों में से रामपुर की सीट सपा और जलालपुर की सीट बसपा के पास थी और बाकी सीटों पर बीजेपी का कब्जा था।

पढ़ें :- जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान ने किया संघर्ष विराम का उल्लघंन, गोलीबारी में दो जवान शहीद

वैसे आम तौर पर विधानसभा उपचुनाव को सत्तारूढ़ दल का चुनाव माना जाता है। लोकसभा चुनाव के रिजल्ट के बाद पहली बार सभी सियासी पार्टियां अलग-अलग होकर अपना चुनाव लड़ रही हैं। यह चुनाव इसलिए भी और ज्यादा खास हो जाता है, क्योंकि सभी सियासी पार्टियों को अपने बेस वोट के साथ-साथ अपनी विचारधारा पर वोट मांगने का मौका मिलेगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...