अब बीजेपी प्रवक्ता ने महात्मा गांधी पर की अभद्र टिप्प्णी, पा​र्टी से किए गए निलंबित

bjplesder
अब बीजेपी प्रवक्ता ने महात्मा गांधी पर की अभद्र टिप्प्णी, पा​र्टी से किए गए निलंबित

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा अभद्र टिप्पणी करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। साध्वी प्रज्ञा के बयान पर सियासी हलचल खत्म भी नहीं हुई थी कि अब मध्य प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता अनिल सौमित्र ने महात्मा गांधी पर विवादित बयान दे डाला। जिसके बाद पार्टी ने भी तुरन्त कार्रवाई करते हुए उन्हे निलंबित कर दिया।

Bjp Suspended Spockspersonanil Saumitra From The Party :

बता दें कि अनिल सौमित्र ने अपने फेसबुक पोस्ट में महात्मा गांधी को पाकिस्तान का राष्ट्रपिता करार दिया था। सौमित्र के इस पोस्ट के बाद हंगामा खड़ा हो गया और विपक्ष ने पार्टी पर हमले करने शुरु कर दिए। भाजपा विपक्ष के निशाने पर आ गई। जिसके बाद बीजेपी को अपने प्र​वक्ता के खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ गई।

बताया जा रहा है कि उन्होंने ये पोस्ट देर रात की थी। मध्यप्रदेश भाजपा की ओर से कार्रवाई के संबंध में अनिल सौमित्र को ये पत्र भेजा गया है। जिसमें साफतौर पर कहा गया है कि आपका कृत्य अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है इसलिए आप पर कार्रवाई की जा रही है। अनिल से सात दिनों के भीतर बयान का जवाब भी मांग गया है।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा अभद्र टिप्पणी करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। साध्वी प्रज्ञा के बयान पर सियासी हलचल खत्म भी नहीं हुई थी कि अब मध्य प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता अनिल सौमित्र ने महात्मा गांधी पर विवादित बयान दे डाला। जिसके बाद पार्टी ने भी तुरन्त कार्रवाई करते हुए उन्हे निलंबित कर दिया। बता दें कि अनिल सौमित्र ने अपने फेसबुक पोस्ट में महात्मा गांधी को पाकिस्तान का राष्ट्रपिता करार दिया था। सौमित्र के इस पोस्ट के बाद हंगामा खड़ा हो गया और विपक्ष ने पार्टी पर हमले करने शुरु कर दिए। भाजपा विपक्ष के निशाने पर आ गई। जिसके बाद बीजेपी को अपने प्र​वक्ता के खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ गई। बताया जा रहा है कि उन्होंने ये पोस्ट देर रात की थी। मध्यप्रदेश भाजपा की ओर से कार्रवाई के संबंध में अनिल सौमित्र को ये पत्र भेजा गया है। जिसमें साफतौर पर कहा गया है कि आपका कृत्य अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है इसलिए आप पर कार्रवाई की जा रही है। अनिल से सात दिनों के भीतर बयान का जवाब भी मांग गया है।