‘टी-20 फॉर्मूले’ से BJP जीतेगी 2019 का लोकसभा चुनाव

'टी-20 फॉर्मूले' से BJP जीतेगी 2019 का लोकसभा चुनाव
'टी-20 फॉर्मूले' से BJP जीतेगी 2019 का लोकसभा चुनाव

नई दिल्ली। अगले साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में 2014 जैसे नतीजे दोहराने के लिए बीजेपी ने एक नई रणनीति बनाई है। इसके लिए पार्टी ने फैसला किया है कि वह इसके लिए ‘टी-20’ फॉर्मूला आजमायेगी। इसका मतलब है, एक कार्यकर्ता 20 घरों में जाकर चाय पिएगा और मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी उन घरों के सदस्यों को देगा।

Bjp Want To Secure The 2014 Election Result And For That Make T 20 Formula :

क्या है टी 20 फॉर्म्युला

यह फॉर्म्युला क्रिकेट के टी20 से बिल्कुल अलग है। बीजेपी के सीनियर नेता ने इस बारे में बताया कि इसमें बीजेपी के हर एक कार्यकर्ता को अपने इलाके के कम से कम 20 घरों में जाकर ‘चाय पर चर्चा’ करनी है। इतना ही नहीं चर्चा के दौरान उसे मोदी सरकार की विभिन्न उपलब्धियों के बारे में भी बताना है।

बीजेपी ने इसके लिए अपने सांसदों, विधायकों और बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं से पहले ही चर्चा कर ली है। उन्हें बताया गया है कि कैसे सरकार की स्कीमों के फायदे लोगों को समझाने हैं। सीनियर नेता ने बताया कि कार्यकर्ताओं को उनके इलाके के हर घर में जाने की कोशिश करनी है और हर एक कार्यकर्ता कम से कम 20 घरों में जाएगा। नेता के मुताबिक, ऐसा जनता से सीधा संवाद करने के लिए किया जा रहा है।

विपक्षियों पर निशाना

पूरे कैंपेन का मकसद विपक्ष द्वारा हो रहे हमलों का जवाब देना होगा। इसमें 5 साल में किए गए कामों के बारे में बताया जाएगा और सरकार का अगले टर्म के लिए क्या रोडमैप है? उसकी भी जानकारी लोगों को दी जाएगी। इसपर पार्टी सूत्रों ने कहा है कि कार्यकर्ता तथ्य और आंकड़ों पर बात करेंगे ताकि लोगों को आसानी से सब समझाया जा सके।

बता दें कि ‘चाय पर चर्चा’ का प्रयोग बीजेपी सरकार ने 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान किया था और यह हिट भी रहा था। उस वक्त बीजेपी द्वारा तकनीक का इस्तेमाल भी बखूबी किया गया था। मोदी के थ्रीडी भाषण प्रसारित हुए थे, जिससे मोदी का भाषण एक साथ कई जगहों पर दिखाया गया था।

नई दिल्ली। अगले साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में 2014 जैसे नतीजे दोहराने के लिए बीजेपी ने एक नई रणनीति बनाई है। इसके लिए पार्टी ने फैसला किया है कि वह इसके लिए ‘टी-20’ फॉर्मूला आजमायेगी। इसका मतलब है, एक कार्यकर्ता 20 घरों में जाकर चाय पिएगा और मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी उन घरों के सदस्यों को देगा।

क्या है टी 20 फॉर्म्युला

यह फॉर्म्युला क्रिकेट के टी20 से बिल्कुल अलग है। बीजेपी के सीनियर नेता ने इस बारे में बताया कि इसमें बीजेपी के हर एक कार्यकर्ता को अपने इलाके के कम से कम 20 घरों में जाकर 'चाय पर चर्चा' करनी है। इतना ही नहीं चर्चा के दौरान उसे मोदी सरकार की विभिन्न उपलब्धियों के बारे में भी बताना है।बीजेपी ने इसके लिए अपने सांसदों, विधायकों और बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं से पहले ही चर्चा कर ली है। उन्हें बताया गया है कि कैसे सरकार की स्कीमों के फायदे लोगों को समझाने हैं। सीनियर नेता ने बताया कि कार्यकर्ताओं को उनके इलाके के हर घर में जाने की कोशिश करनी है और हर एक कार्यकर्ता कम से कम 20 घरों में जाएगा। नेता के मुताबिक, ऐसा जनता से सीधा संवाद करने के लिए किया जा रहा है।

विपक्षियों पर निशाना

पूरे कैंपेन का मकसद विपक्ष द्वारा हो रहे हमलों का जवाब देना होगा। इसमें 5 साल में किए गए कामों के बारे में बताया जाएगा और सरकार का अगले टर्म के लिए क्या रोडमैप है? उसकी भी जानकारी लोगों को दी जाएगी। इसपर पार्टी सूत्रों ने कहा है कि कार्यकर्ता तथ्य और आंकड़ों पर बात करेंगे ताकि लोगों को आसानी से सब समझाया जा सके।बता दें कि 'चाय पर चर्चा' का प्रयोग बीजेपी सरकार ने 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान किया था और यह हिट भी रहा था। उस वक्त बीजेपी द्वारा तकनीक का इस्तेमाल भी बखूबी किया गया था। मोदी के थ्रीडी भाषण प्रसारित हुए थे, जिससे मोदी का भाषण एक साथ कई जगहों पर दिखाया गया था।