1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. ‘लव एंड लैंड जिहाद’ रोकने के लिए कानून लायेगी भाजपा, असम की रैली में अमित शाह का ऐलान

‘लव एंड लैंड जिहाद’ रोकने के लिए कानून लायेगी भाजपा, असम की रैली में अमित शाह का ऐलान

असम विधानसभा चुनाव में मोरीगांव में एक रैली को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता और गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस और उसकी गठबंधन सहयोगी एआईयूडीएफ पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने कहा कि असम में बीजेपी की अगली सरकार बनने पर ‘लव एंड लैंड जिहाद’ रोकने के लिए कानून बनाएगी।

By शिव मौर्या 
Updated Date

मोरीगांव: असम विधानसभा चुनाव में मोरीगांव में एक रैली को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता और गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस और उसकी गठबंधन सहयोगी एआईयूडीएफ पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने कहा कि असम में बीजेपी की अगली सरकार बनने पर ‘लव एंड लैंड जिहाद’ रोकने के लिए कानून बनाएगी। कांग्रेस, राहुल गांधी और बदरुद्दीन अजमल पर तीखे हमले करते हुए अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी का कहना है कि बदरुद्दीन अजमल असम की पहचान है।

पढ़ें :- उदयपुर में बजरंग दल के कार्यकर्ता को गोली मारकर हत्या

असम की पहचान शंकरदेव और माधवदेव है, वीर सेनापति लाचित बोरफूकन है। कांग्रेस कितनी भी जोर लगा ले हम बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान नहीं बनने देंगे। शाह ने कहा कि 8वीं कक्षा के बाद सभी बच्चियों को साइकिल दी जाएगी। कॉलेज जाने वाली हर छात्रा को स्कूटी देंगे। 2 लाख सरकारी नौकरियां और 8 लाख प्राइवेट नौकरियों का सृजन 2022 से पहले किया जाएगा।

असम में लव जिहाद और लैंड जिहाद के खिलाफ क़ानून लाएंगे। शाह ने कहा कि भाजपा के संकल्प पत्र में ढेर सारी बाते हैं मगर सबसे बड़ी बात ‘लव जिहाद’ और ‘लैंड जिहाद’ के खिलाफ कानून लाने का काम भाजपा सरकार करेगी।

गृहमंत्री ने कहा कि असम में गलती से भी कांग्रेस और बदरुद्दीन की सरकार आई तो असम में फिर से घुसपैठियों की बाढ़ आएगी। क्या आप असम में घुसपैठियों को चाहते हैं? असम घुसपैठिया मुक्त असम चाहता है की नहीं? कांग्रेस पार्टी घुसपैठिया मुक्त असम नहीं दे सकती।

अमित शाह ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, भाजपा ने हमेशा से असम के गौरव को बढ़ाने का काम किया। अटल जी की सरकार थी तब लोकप्रिय गोपीनाथ जी का सम्मान किया। नरेन्द्र मोदी जी की सरकार आई हमने भूपेन हाजरिका का सम्मान किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का घोषणा पत्र चुनाव प्रचार के लिए होता है और भाजपा का घोषणा पत्र अमल करने के लिए होता है।

पढ़ें :- जेईई मेंस 2023 के सेशन 1 का रिजल्ट जारी, इस तरह से करें चेक

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...