1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. कोर्ट के ‘सुप्रीम’ फैसले के बाद भाजपा का ‘जोश हाई’, सरकार बनाने की कवायद शुरू

कोर्ट के ‘सुप्रीम’ फैसले के बाद भाजपा का ‘जोश हाई’, सरकार बनाने की कवायद शुरू

महाराष्ट्र की सियासत में छाए संकट के बादल के बीच सोमवार को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान कोर्ट तत्काल कोई फैसला नहीं सुनाया, इसके बावजूद बागी विधायकों को कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक उथल- पुथल के बीच भारतीय जनता पार्टी ने सरकार बनाने की कवायद शुरू कर दी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। महाराष्ट्र की सियासत में छाए संकट (Political Crisis in Maharashtra)के बादल के बीच सोमवार को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान कोर्ट तत्काल कोई फैसला नहीं सुनाया, इसके बावजूद बागी विधायकों को कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक उथल- पुथल के बीच भारतीय जनता पार्टी ने सरकार बनाने की कवायद शुरू कर दी है।

पढ़ें :- UP ATS : सहारनपुर से जैश आतंकी गिरफ्तार, नूपुर शर्मा की हत्या का मिला था टास्क

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो भाजपा और शिंदे गुट मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं। हालांकि, अभी मंत्री पद को लेकर मंथन चल रहा है। शिंदे गुट से आठ विधायक कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं। वहीं पांच राज्य मंत्री बनाए जा सकते हैं।

भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने की स्थिति में एकनाथ शिंदे, उदय सामंत, दादा भुसे, गुलाबराव पाटिल और दीपक केसरकर को कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है। कहा यह भी जा रहा है कि एकनाथ शिंदे गुट की ओर से डिप्टी सीएम के पद को लेकर दबाव बनाया जा रहा है। हालांकि अब तक इसे लेकर सहमति नहीं बन सकी है। चर्चाएं हैं कि भाजपा और एकनाथ शिंदे गुट की तरफ से जल्दी ही विश्वास मत प्रस्ताव की मांग राज्यपाल से की जा सकती है।

दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को आदेश दिया था कि 15 बागियों को विधानसभा के डिप्टी स्पीकर की ओर से अयोग्य ठहराने पर जो नोटिस मिला है, वे उस पर 12 जुलाई तक जवाब दे सकते हैं।

पढ़ें :- Big attack of BJP MP : कहा-नीतीश कुमार प्रधानमंत्री बनने के लिए दाऊद इब्राहिम से मिला सकते हैं हाथ
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...