उन्नाव में सरेराह दलित युवती को जिंदा जलाया, पुलिस को नहीं मिला कोई सुराग

उन्नाव में सरेराह दलित युवती को जिंदा जलाया, पुलिस को नहीं मिला कोई सुराग
उन्नाव में सरेराह दलित युवती को जिंदा जलाया, पुलिस को नहीं मिला कोई सुराग

उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां के बारासगवर थानाक्षेत्र में साइकिल से सब्जी खरीदने जा रही दलित युवती को गांव के बाहर पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया। खुद को बचाने के लिए युवती भागी लेकिन रास्ते में उसकी मौत हो गयी। सरेराह हुई इस घटना ने पूरे इलाके में दहशत का माहौल पैदा कर दिया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अभी तक इस मामले में पुलिस को आरोपियों के खिलाफ कोई सुराग नहीं मिल सके हैं। लखनऊ जोन के आईजी सुजीत पांडेय ने कहा कि मामला प्रथम दृष्टया मर्डर दिखता है और जलाकर मारने की घटना प्रतीत हो रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक, सथनी बालाखेड़ा गांव निवासी संकठा प्रसाद विमल की पुत्री मोनी (18) गुरुवार शाम पांच बजे साइकिल से टेढ़ा बाजार सब्जी खरीदने के लिए निकली थी। घर से 100 मीटर दूर कच्चे रास्ते पर पहुंचते ही अचानक पीछे से आए लोगों ने मोनी पर पेट्रोल उड़ेल कर आग लगा दी। जल रही मोनी जान बचाने को ट्यूबवेल की ओर भागी, वहीं शोर सुनकर पास के अस्पताल में मजदूरी कर रहा उसका भाई सूरज भी दौड़ा, जब तक सूरज वहां पहुंचा उसकी मौत हो चुकी थी।

{ यह भी पढ़ें:- भाजपा सांसद के बिगड़े बोल, कहा मीडिया को शर्म से डूब मरना चा​हिए }

घटना की जानकारी के बाद एसओ समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। देर शाम इलाके में हुई घटना से लोगों में दहशत का माहौल है। पुलिस मामले की जांच करने की बात कह रही है।

{ यह भी पढ़ें:- अमेठी: देवर ने भाभी-भतीजी को जिन्दा जलाया, नजारा देख लोगों के उड़े होश }

उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां के बारासगवर थानाक्षेत्र में साइकिल से सब्जी खरीदने जा रही दलित युवती को गांव के बाहर पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया। खुद को बचाने के लिए युवती भागी लेकिन रास्ते में उसकी मौत हो गयी। सरेराह हुई इस घटना ने पूरे इलाके में दहशत का माहौल पैदा कर दिया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अभी तक इस…
Loading...