सर्जिकल स्ट्राइक: चश्मदीद बोले- मारे गए 50 आतंकी, ट्रकों में भरकर ले जाए गए शव

नई दिल्ली| जम्मू-कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना द्वारा पीओके में घुसकर की गई सर्जिकल स्ट्राइक को पाकिस्तान भले ही नकार रहा हो लेकिन पीओके में रहने वाले लोगों ने भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर मुहर लगा दी है| अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने दावा किया है कि पीओके में रहने वाले लोगों ने बताया है कि 28-29 की रात यहां मौजूद आतंकी ठिकानों पर जबरदस्त फायरिंग हुई थी जिसमें कई आतंकी मारे गए थे|




अखबार के अनुसार एलओसी के पार रहने वाले कुछ लोगों ने बताया है कि उन्होंने बॉर्डर पार भारतीय सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक की गतिविधियों या फिर उसके नतीजों को देखा है| उन्होंने बताया है कि 29 सितंबर की सुबह मारे गए लोगों को ट्रकों में भरकर अज्ञात जगह दफनाने के लिए ले जाया गया|

कुछ चश्मदीदों ने यह भी दावा किया है कि उन्हें वहां पर भारी गोलाबारी भी सुनाई दी थी जिसने आतंकियों के ठिकानों को नष्ट किया था| चश्मदीदों के मुताबिक भी भारतीय सेना की इस कार्रवाई में करीब 38 से 50 आतंकी मारे गए थे| मारे गए आतंकियों के लिए मस्जिद में दुआ भी की गई| नमाज-ए-जनाजा चाल्हाना के मस्जिद में पढ़ी गई| कुछ शवों को दफनाया गया और कुछ शवों को आतंकियों के कैंप में ले जाया गया|



Loading...