डकैतों से मुठभेड़ में शहीद दरोगा का अंतिम संस्कार आज, सरकार देगी गैलेंट्री मेडल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में डकैतों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए दरोगा जयप्रकाश सिंह का शुक्रवार को जौनपुर के नेवरिया में अंतिम संस्कार किया जाएगा। योगी सरकार ने शहीद को वीरता के लिए गैलेंट्री मेडल देने का ऐलान किया है। इस बीच सूबे के पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह ने शहीद के पिता से बात कर सांत्वना दी है।

उप्र के अपर पुलिस महानिदेशक आनंद कुमार ने इसकी जानकारी दी। गुरुवार को मुठभेड़ में शहीद हुए दारोगा जयप्रकाश सिंह के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए आनंद कुमार तथा सरकार के मंत्री महेंद्र सिंह उनके पैतृक गांव जाएंगे।

{ यह भी पढ़ें:- महकमा मेहरबान तो सरकारी भवन बना प्राइवेट 'गोदाम' }

SSP लखनऊ समेत जिले के सभी पुलिसकर्मियों देंगे एक दिन का वेतन-

लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार समेत सभी पुलिसकर्मियों ने एक-एक दिन का अपना वेतन शहीद के परिजनों को देने का फैसला किया है। दीपक कुमार ने कहा कि शहीद दारोगा जे पी सिंह को लखनऊ पुलिस का सलाम! उनके परिवार को लखनऊ पुलिस की ओर से दरोगा से लेकर एसएसपी तक अपना एक दिन का वेतन देंगे।

{ यह भी पढ़ें:- ब्लड कैंसर पीड़िता से तीन नहीं छह लोगों ने किया था गैंगरेप, मंत्री ने इंस्पेक्टर को लगाई फटकार }

बता दें कि बुधवार देर रात पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि खूंखार बबुली कोल गिरोह जंगल किनारे के गांव निही चिरैया के करीब वन विभाग की चौकी के आसपास मौजूद है। इस पर पुलिस ने मऊ और मानिक सर्किल की दो पुलिस टीमें बनाकर जंगल की तरफ रवाना किया।

पुलिस को देखते ही डकैतों ने गोलियां चलानी शुरू कर दीं, पुलिस जब तक संभलती दरोगा जयप्रकाश सिंह के पेट और पैर में दो गोलियां लगीं। पुलिस उनको जंगल से बाहर लाती, उससे पहले ही उनकी मौत हो चुकी थी।

सीएम योगी ने की घोषणा-

{ यह भी पढ़ें:- खबर का असर: 1000 करोड़ की बंद अमृत योजनाओं की पुनर्समीक्षा करेगा जल निगम }


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घोषणा करते हुए कहा, शहीद जेपी सिंह के परिवार को 25 लाख रुपये गृह विभाग और 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता मुख्यमंत्री कोष से दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने शहीद के गांव की एक सड़क को उनके नाम पर रखने और वहां एक द्वार बनाने की भी घोषणा की। शहीद जेपी सिंह को वीरता पदक से सम्मानित किया जाएगा।

{ यह भी पढ़ें:- CBI के रडार पर यूपी के कई सफेदपोश समेत हजारों की संख्या में पीसीएस-इंजीनियर }

Loading...