तीन दिन बंद रही कमरे में लाश, पहेली बनी 40 के दशक की इस एक्ट्रेस की मौत

मुंबई। बॉलीवुड में कई मशहूर और जाने पहचाने ऐसे नाम रहे, जिनकी मौत एक पहेली बनकर रह गयी। आज हम आपको एक ऐसी एक्ट्रेस की मौत की दास्तान बताएंगे, जो आज भी रहस्य है। 40-50 के दशक की फेमस एक्ट्रेस नलिनी जयवंत की मौत साल 2010 में हुयी थी। नलिनी ने फिल्म काला पानी, शिकस्त, रेलवे प्लेटफार्म जैसी कई मशहूर फिल्मों में अहम भूमिका निभाई। वो रिश्ते में एक्ट्रेस काजोल की नानी और शोभना समर्थ की फर्स्ट कजिन थीं। इतनी फेमस होने के बाद भी उनकी मौत के बाद तीन दिन तक उनकी लाश उन्ही के चैंबूर स्थित घर में पड़ी रही थी, जिससे पर्दा नहीं उठ सका।

बड़े पर्दे पर काम कर कम समय में अपना नाम कमाने वाली नलिनी जयवंत ने 40 के दशक में डायरेक्टर वीरेंद्र देसाई से शादी की थी। जिसके बाद उन्होने ने पहले पति से तलाक लेकर एक्टर प्रभु दयाल से दूसरी शादी की थी। किसी कारणवश 1983 से नलिनी यूनियन पार्क में एकांत जीवन जीने लगी थी।

जिस समय नलिनी की मौत हुई वो 84 साल की थी। नलिनी के करिबियों ने बताया वो अकेली ही रहती थी। तीन दिन तक उनकी लाश उन्ही के घर में पड़ी रही। उस समय यह चर्चा थी कि नलिनी की मृत्यु रहस्यमई हालत में हुई थी। नलिनी के पड़ोसी ने मीडिया से बात-चीत करने के दौरान बताया कि एक अंजान व्यक्ति आया और नलिनी की डेडबॉडी को एम्ब्युलेन्स में रखकर आपे साथ ले गया था।

हैरान कर देने वाली बात तो ये है कि इस मामले मे पुलिस से भी कोई शिकायत नहीं की गयी थी। इस बात की पुष्टि चेंबूर पुलिस स्टेशन के सीनियर इंस्पेक्टर बी राठौड़ ने की थी।