#MeToo: प्रियंका चोपड़ा भी हो चुकी हैं यौन शोषण का शिकार

priyanka chopda
#MeToo: प्रियंका चोपड़ा भी हो चुकी हैं यौन शोषण का शिकार, बोलीं- नहीं हूं शर्मिंदा

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा हाल में न्यूयॉर्क में हुए 10th Annual Women in the world summit में शामिल हुईं। यहां यौन उत्पीड़न पर बोलते हुए प्रियंका ने मौजूद दर्शकों के साथ अपना अनुभव भी साझा किया अभिनेत्री  प्रियंका  ने #MeToo अभियान पर भी अपने विचार रखे।

Bollywood Priyanka Chopra Revealed That She Has Also Faced Sexual Harassment :

प्रियंका चोपड़ा से यौन शोषण पर पूछे गए सवाल का जवाब प्रियंका ने सीधे तौर पर नहीं दिया लेकिन उन्होंने साफ किया की ये (यौन शोषण) लगभग सभी के साथ हुआ है। हाल ही में बॉलीवुड में #MeToo मूवमेंट की शुरुआत हुई थी जिसमें इंडस्‍ट्री की कई महिलाओं ने सामने आकर सेलेब्रिटीज पर यौन उत्‍पीड़न का आरोप लगाया था।

प्रियंका चोपड़ा से जब उनके साथ किसी ऐसे हादसे की बात पूछी गई तो उन्होंने अपना हाथ उठाते हुए कहा कि आज #Metoo जैसे अभियान के चलते हम अपनी बात कह सकते हैं। हमें अपनी कहानी कहते हुए ऐसा नहीं लगता है कि दुनिया में इसे झेलने वाले हम अकेले हैं।

प्रियंका ने बिना किसी का नाम लेते हुए कहा, ‘इस कमरे में मौजूद हर महिला के साथ यौन उत्पीड़न हुआ है। ऐसा लगता है कि महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न शब्द जुड़ कर आता है। पहले हमारी आवाज़ दब जाती थी लेकिन अब एक दूसरे का सपोर्ट करने की वजह से लोग हमें चुप नहीं करवा पाते और ऐसा देखकर हिम्मत और बढ़ती  है।’

प्रियंका ने अपने साथ हुए किसी विशेष हादसे या शोषण का किस्सा साझा करने की बजाए खुद को पीड़ित मानते हुए कहा, ‘मेरे खयाल से इस कमरे में बैठी सभी महिलाएं इससे गुजरी होंगी। हम हमेशा आवाज़ उठाते थे, बस कोई सुनता नहीं था। अब मेरे पास कोई कहानी है तो मुझे नहीं लगेगा कि मैं अकेली हूं और ना ही मैं शर्मिंदा हूं।’

तनुश्री दत्ता ने #MeToo मूवमेंट की शुरुआत की थी, तब प्रियंका ने एक इंटरव्यू में कहा था- ”अगर लोग इस मूवमेंट को बॉलीवुड तक ही सीमित रखते हैं तो मुझे लगता है कि उन्होंने इस मूवमेंट को गलत समझा है। ऐसा नहीं है कि फिल्म इंडस्ट्री में ये चीज होती है। हर जॉब में होती है। जो मेरे साथ हुआ है, वो बहुत पहले हुआ है।

ऐसा नहीं है कि दंगल के टाइम हुआ है या उसके बाद। ये तब हुआ जब मैं बहुत यंग थी। लोग सोच रहे हैं कि मैं इस बारे में क्यों बात नहीं कर रही…लोगों को बहुत उम्मीदें हैं। हमारे देश की सभी महिलाओं ने इसे भुगता है और सब पब्लिक में इस बारे में बात नहीं करना चाहते।”

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा हाल में न्यूयॉर्क में हुए 10th Annual Women in the world summit में शामिल हुईं। यहां यौन उत्पीड़न पर बोलते हुए प्रियंका ने मौजूद दर्शकों के साथ अपना अनुभव भी साझा किया अभिनेत्री  प्रियंका  ने #MeToo अभियान पर भी अपने विचार रखे।

प्रियंका चोपड़ा से यौन शोषण पर पूछे गए सवाल का जवाब प्रियंका ने सीधे तौर पर नहीं दिया लेकिन उन्होंने साफ किया की ये (यौन शोषण) लगभग सभी के साथ हुआ है। हाल ही में बॉलीवुड में #MeToo मूवमेंट की शुरुआत हुई थी जिसमें इंडस्‍ट्री की कई महिलाओं ने सामने आकर सेलेब्रिटीज पर यौन उत्‍पीड़न का आरोप लगाया था।

प्रियंका चोपड़ा से जब उनके साथ किसी ऐसे हादसे की बात पूछी गई तो उन्होंने अपना हाथ उठाते हुए कहा कि आज #Metoo जैसे अभियान के चलते हम अपनी बात कह सकते हैं। हमें अपनी कहानी कहते हुए ऐसा नहीं लगता है कि दुनिया में इसे झेलने वाले हम अकेले हैं।

प्रियंका ने बिना किसी का नाम लेते हुए कहा, 'इस कमरे में मौजूद हर महिला के साथ यौन उत्पीड़न हुआ है। ऐसा लगता है कि महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न शब्द जुड़ कर आता है। पहले हमारी आवाज़ दब जाती थी लेकिन अब एक दूसरे का सपोर्ट करने की वजह से लोग हमें चुप नहीं करवा पाते और ऐसा देखकर हिम्मत और बढ़ती  है।'

प्रियंका ने अपने साथ हुए किसी विशेष हादसे या शोषण का किस्सा साझा करने की बजाए खुद को पीड़ित मानते हुए कहा, 'मेरे खयाल से इस कमरे में बैठी सभी महिलाएं इससे गुजरी होंगी। हम हमेशा आवाज़ उठाते थे, बस कोई सुनता नहीं था। अब मेरे पास कोई कहानी है तो मुझे नहीं लगेगा कि मैं अकेली हूं और ना ही मैं शर्मिंदा हूं।'

तनुश्री दत्ता ने #MeToo मूवमेंट की शुरुआत की थी, तब प्रियंका ने एक इंटरव्यू में कहा था- ''अगर लोग इस मूवमेंट को बॉलीवुड तक ही सीमित रखते हैं तो मुझे लगता है कि उन्होंने इस मूवमेंट को गलत समझा है। ऐसा नहीं है कि फिल्म इंडस्ट्री में ये चीज होती है। हर जॉब में होती है। जो मेरे साथ हुआ है, वो बहुत पहले हुआ है।

ऐसा नहीं है कि दंगल के टाइम हुआ है या उसके बाद। ये तब हुआ जब मैं बहुत यंग थी। लोग सोच रहे हैं कि मैं इस बारे में क्यों बात नहीं कर रही...लोगों को बहुत उम्मीदें हैं। हमारे देश की सभी महिलाओं ने इसे भुगता है और सब पब्लिक में इस बारे में बात नहीं करना चाहते।''