इलाहाबाद हाईकोर्ट के गेट पर मिला टिफिन बम

इलाहाबाद| उत्तर प्रदेश के अति सुरक्षित माने जाने वाले इलाहाबाद हाईकोर्ट के गेट नंबर तीन के पास टिफिन बम मिलने से हड़कंप मच गया| आईजी, डीआईजी, एसएसपी समेत पुलिस के अधिकारी जानकारी पाते ही मौके पर पहुंच गए| तुरंत बम निरोधक दस्ते को बुलाया गया| बम निरोधक दस्ते ने जब बेंच के नीचे पड़े टिफिन को खोला तो उसमे चार सुतली बम, गिट्टी व गन पाउडर मिले| इसका इस्तेमाल देसी बम और पटाखा बनाने में किया जाता है| इसे हाईकोर्ट की सुरक्षा में बड़ी चूक माना जा रहा है|




इसके पहले 2016 अप्रैल में वाराणसी की एक अदालत में परिसर में हैंड ग्रेनेड मिलने से हड़कमप मच गया था| समय रहते पुलिस ने उसे डिफ्यूज कर दिया और कोई हादसा होने से बच गया| यह बम कचहरी के गेट नंबर दो पर रखा गया था|

2016 में ही लखनऊ सिविल कोर्ट परिसर में बम होने की सूचना से हड़कम्प मच गया था| अधिकारियों के आदेश पर वजीरगंज पुलिस, डॉग स्क्वॉयड, बम निरोधक दस्ते व जिला प्रशासन के अधिकारियों ने कचहरी परिसर का चप्पा-चप्पा खंगाला| इस दौरान किसी को परिसर में घुसने नहीं दिया गया| पुलिस ने परिसर के इर्द-गिर्द खड़े वाहनों की तलाशी लेने के साथ राहगीरों से भी पूछताछ की| करीब पांच घंटे चले तलाशी अभियान में कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली| इसके चलते किसी कोर्ट में कोई न्यायिक अधिकारी, कर्मचारी, वकील व वादकारी नहीं गए|

2015 में कानपुर अगस्त में कचहरी परिसर में रखे बम में जोरदार धमाके से भगदड़ मची थी| कानपुर कचहरी में रोज की तरह सामानय रूप से काम हो रहा था| तभी यहां के शताब्दी गेट के सामने बनी पुरानी कचहरी परिसर के निचले तल में तेज धमाका हुआ| धमाके की आवाज सुनते ही कचहरी में भगदड़ मच गई और लोग इधर-उधर सुरक्षित स्थानों की ओर भागने लगे|