1. हिन्दी समाचार
  2. सट्टेबाज संजीव चावला का दावा, ‘जिस मैच को लोग देखते हैं वो मैच फिक्स होता है’

सट्टेबाज संजीव चावला का दावा, ‘जिस मैच को लोग देखते हैं वो मैच फिक्स होता है’

Bookie Sanjeev Chawla Claims The Match That People Watch Is A Match Fix

By रवि तिवारी 
Updated Date

साल 2000 में हुए फिक्सिंग कांड के मुख्य आरोपी संजीव चावला (Sanjeev Chawla) ने यह बयान देकर पूरे क्रिकेट जगत को हिला दिया है कि हर मैच फिक्स होता है. दिल्ली पुलिस को दिए बयान में संजीव ने खुलासा किया कि हर मैच पहले से तय होता है. खबरों के मुताबिक चावला ने फिक्सिंग के पीछे अंडरवर्ल्ड का हाथ बताया और साथ ही यह भी कहा कि उनकी जान को खतरा है.

पढ़ें :- आज तीसरे दिन फिर सोने चांदी के भाव मे हुआ बड़ा हेरफेर, जानिए आज का भाव

अंडरवर्ल्ड के हाथों में क्रिकेट

रिपोर्ट के मुताबिक चावला ने कहा, ‘क्रिकेट का कोई भी मैच निष्पक्ष नहीं होता.हर मैच जो दर्शक देखने पहुंचते हैं वह फिक्स होता है. अंडरवर्ल्ड इन मैचों को उसी तरह नियंत्रित करते हैं जैसे निर्देशक फिल्मों को करते हैं.’ संजीव ने ज्यादा बातें नहीं बताई क्योंकि उनके मुताबिक अगर वह ऐसा करेंगे तो मार दिए जाएंगे.

दूसरी तरफ पुलिस क्राइम स्पेशलिस्ट प्रावीर रंजन का कहना है कि पुलिस अभी भी इस मामले की छान बीन कर रही है. उन्होंने कहा, ‘अभी हमलोग किसी भी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी शेयर नहीं कर सकते हैं.’ संजीव का यह बयान आरोप पत्र का हिस्सा है हालांकि इस पर चावला के हस्ताक्षर नहीं है. चावला के साथ इस केस में कृष्ण कुमार, राजेश कालरा और सुनील धारा भी आरोपी हैं जो कि फिलहाल बेल पर रिहा हैं. चावला के साथ इस केस में कृष्ण कुमार, राजेश कालरा और सुनील धारा भी आरोपी हैं जो कि फिलहाल बेल पर रिहा हैं.

2000 में हुए फिक्सिंग कांड के आरोपी हैं संजीव

पढ़ें :- यूपी: अमेठी में बदमाशों ने प्रधानपति को जिंदा जलाया, जानिए पूरी घटना

पुलिस ने संजीव चावला पर पांच मैचों की फिक्सिंग में शामिल होने का आरोप लगाया था. पुलिस ने दिल्ली कोर्ट को बताया था कि साउथ अफ्रीका के पूर्व कप्तान क्रोन्ये भी मैच फिक्सिंग मामले में शामिल थे. पुलिस ने अदालत को बताया था कि क्रोन्ये की 2002 में विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी. चावला पर आरोप है कि 2000 के फरवरी-मार्च में दक्षिण अफ्रीकी टीम के भारत दौरे के मैचों को फिक्स करने के लिए क्रोन्ये के साथ पूरी प्लानिंग की थी.

चावला दिल्ली में जन्मे एक बिजनेसमैन हैं, जो 1996 में बिजनेस वीजा पर यूनाइटेड किंगडम चले गए लेकिन भारत की यात्राएं कर रहे थे. इस मामले का खुलासा तब हुआ जब दिल्ली पुलिस ने संजीव चावला (Sanjeev Chawla) और हैंसी क्रोन्ये (Hansie Cronje) के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत को इंटरसेप्ट किया. इस बातचीत में दोनों मैच फिक्स करने को लेकर बात कर रहे थे. साल 2013 में संजीव चावला के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई थी.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...