बूथ और कैटरिंग कंपनी में करता था काम, अब बना इंडियन आइडल विजेता

मुंबई। शानदार आवाज़ के दम पर सिंगिंग रियलिटी शो इंडियन आइडल को एल.वी. रेवंत ने अपने नाम कर लिया है। केरल में पले-बढ़े रेवंत बेहद ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखते है। इंडियन आइडल नौवें सीजन में विजेता का ताज अपने नाम करते ही रेवंत लाखों युवा दिलों पर राज करने लगे है। विजेता बनाए से पहले तक इस नाम के बारे में कोई नहीं जनता था लेकिन हम आपको बता दें कि इस कलाकार के नाम पहले से ही कई कीर्तिमान दर्ज है।



बहुत कम लोगों को पता होगा कि ‘बाहुबली’ जैसी मेगाहिट फिल्म में एल.वी. रेवंत ने गाना गाया है। इसलिए उन्हें गाने का अच्छा-खासा अनुभव है। रेवंत बहुत छोटे थे तभी उनके पिता का साया उनके सिर से उठ गया है। उनकी मां ने उन्हें बड़ी मुश्किलों से बड़ा किया है लेकिन उन्होंने कभी भी रेवंत से ये नहीं कहा कि वो सपनों से समझौता करे। रेवंत को जीविका और संगीत के लिए पीसीओ बूथ और कैटरिंग कंपनी में भी काम करना पड़ा था। रेवंत ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वो एक दिन इंडियन आइडल बनेंगे।




जब रेवंत को मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने विजेता को ट्रॉफी प्रदान की तो रेवंत के जीवन का ये सबसे यादगार पल बन गया। विनर को ट्रॉफी के अलावा 25 लाख रुपए और महिंद्रा की तरफ से एक गाड़ी से नवाजा गया।