बोरिस जॉनसन फिर बनेंगे पीएम, मोदी ने कहा- दमदार जनादेश से सत्ता में लौटने के लिए बधाई

modi
बोरिस जॉनसन फिर बनेंगे पीएम, मोदी ने कहा- दमदार जनादेश से सत्ता में लौटने के लिए बधाई

नई दिल्ली। ब्रग्जिट को लेकर आकस्मिक हुए चुनाव में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को आम चुनाव में शुक्रवार की बहुमत मिला है। 650 सीटों वाली संसद में 647 सीटों के नतीजे आ चुके हैं। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की कंजरवेटिव पार्टी 363 सीटें जीत चुकी है। विपक्षी लेबर पार्टी को सिर्फ 202 सीटें मिली हैं।

Boris Johnson Will Be Pm Again Modi Said Congratulations For Returning To Power From Strong Mandate :

प्रधानमंत्री जॉनसन ने ट्वीट कर कहा, यूके दुनिया का सबसे महान लोकतंत्र है। जिन्होंने भी हमारे लिए वोट किया, जो हमारे उम्मीदवार बने, उन सबका शुक्रिया।” वहीं, विपक्षी लेबर पार्टी का नेतृत्व कर रहे जेरेमी कॉर्बिन ने ब्रेग्जिट को अपनी हार का कारण बताया है। कार्बिन ने आगे पार्टी का नेतृत्व नहीं करने का भी ऐलान किया है।

मोदी और ट्रम्प ने जॉनसन को जीत की बधाई दी

जॉनसन को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बधाई दी। मोदी ने लिखा, “बोरिस जॉनसन को दमदार बहुमत के साथ सत्ता में लौटने की बधाई। मेरी तरफ से उन्हें शुभकामनाएं। भारत-यूके के करीबी संबंधों के लिए हम साथ काम जारी रखेंगे।”

ब्रिटेन में तय समय के मुताबिक, मई 2022 में चुनाव होने थे, लेकिन ब्रेग्जिट पर गतिरोध के चलते करीब ढाई साल पहले चुनाव कराने पड़े। संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमंस में 650 सीटों के लिए भारतीय मूल समेत 3,322 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे थे। इंग्लैंड, वेल्स, स्कॉटलैंड और नॉर्दर्न आयरलैंड के सभी निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान केंद्र अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सुबह सात बजे शुरू हुए और रात 10 बजे मतदान खत्म हो गया। इसके तुरंत बाद मतगणना शुरू हो गई थी।

बैलेट पेपर से मतदान

इस चुनाव में मतदान बैलट पेपर पर कराया गया ताकि किसी तरह की आशंका नहीं रहे। स्कूल, कम्युनिटी हॉल और चर्चों पर पोलिंग बूथ बनाए गए। मतदान केंद्र के बाहर लंबी कतारों में लगकर वोट डाले। कई मतदाताओं ने बताया कि उन्होंने पहली बार ब्रिटेन में इतनी बड़ी संख्या में लोगों को मतदान करते देखा है। 1923 के बाद अब दिसंबर में चुनाव हुए।

-18 साल मतदान करने की न्यूनतम उम्र
-4.57 करोड़ पंजीकृत मतदाता
– 69 फीसदी मतदान हुआ था 2017 के चुनाव में

ब्रिटेन की राजनीतिक व्यवस्था

महारानी
ब्रिटिश संसद
1- हाऊस ऑफ लॉर्ड (उच्च सदन) – 800 सदस्य
2- हाउस ऑफ कॉमन्स (निचला सदन) : 650 सीट, बहुमत के लिए 326 सीटों की जरूरत

नई दिल्ली। ब्रग्जिट को लेकर आकस्मिक हुए चुनाव में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को आम चुनाव में शुक्रवार की बहुमत मिला है। 650 सीटों वाली संसद में 647 सीटों के नतीजे आ चुके हैं। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की कंजरवेटिव पार्टी 363 सीटें जीत चुकी है। विपक्षी लेबर पार्टी को सिर्फ 202 सीटें मिली हैं। प्रधानमंत्री जॉनसन ने ट्वीट कर कहा, यूके दुनिया का सबसे महान लोकतंत्र है। जिन्होंने भी हमारे लिए वोट किया, जो हमारे उम्मीदवार बने, उन सबका शुक्रिया।” वहीं, विपक्षी लेबर पार्टी का नेतृत्व कर रहे जेरेमी कॉर्बिन ने ब्रेग्जिट को अपनी हार का कारण बताया है। कार्बिन ने आगे पार्टी का नेतृत्व नहीं करने का भी ऐलान किया है। मोदी और ट्रम्प ने जॉनसन को जीत की बधाई दी जॉनसन को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बधाई दी। मोदी ने लिखा, “बोरिस जॉनसन को दमदार बहुमत के साथ सत्ता में लौटने की बधाई। मेरी तरफ से उन्हें शुभकामनाएं। भारत-यूके के करीबी संबंधों के लिए हम साथ काम जारी रखेंगे।” ब्रिटेन में तय समय के मुताबिक, मई 2022 में चुनाव होने थे, लेकिन ब्रेग्जिट पर गतिरोध के चलते करीब ढाई साल पहले चुनाव कराने पड़े। संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमंस में 650 सीटों के लिए भारतीय मूल समेत 3,322 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे थे। इंग्लैंड, वेल्स, स्कॉटलैंड और नॉर्दर्न आयरलैंड के सभी निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान केंद्र अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सुबह सात बजे शुरू हुए और रात 10 बजे मतदान खत्म हो गया। इसके तुरंत बाद मतगणना शुरू हो गई थी। बैलेट पेपर से मतदान इस चुनाव में मतदान बैलट पेपर पर कराया गया ताकि किसी तरह की आशंका नहीं रहे। स्कूल, कम्युनिटी हॉल और चर्चों पर पोलिंग बूथ बनाए गए। मतदान केंद्र के बाहर लंबी कतारों में लगकर वोट डाले। कई मतदाताओं ने बताया कि उन्होंने पहली बार ब्रिटेन में इतनी बड़ी संख्या में लोगों को मतदान करते देखा है। 1923 के बाद अब दिसंबर में चुनाव हुए। -18 साल मतदान करने की न्यूनतम उम्र -4.57 करोड़ पंजीकृत मतदाता - 69 फीसदी मतदान हुआ था 2017 के चुनाव में ब्रिटेन की राजनीतिक व्यवस्था महारानी ब्रिटिश संसद 1- हाऊस ऑफ लॉर्ड (उच्च सदन) - 800 सदस्य 2- हाउस ऑफ कॉमन्स (निचला सदन) : 650 सीट, बहुमत के लिए 326 सीटों की जरूरत