बदायूं: पहले भगवा हुई बाबा साहेब की मूर्ति, विरोध होने पर दोबारा किया नीला

badayun baba sahab murti
बदायूं

बदायूं। यूपी में बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की मूर्तियों से छेड़छाड़ की घटनायें थम नहीं रही हैं। बदायूं जिले में बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की मूर्ति को भगवा रंग दिया गया, जिसके बाद से दलित समुदाय ने इस मामले का कडा विरोध किया है। विवाद बढ़ने पर मूर्ति को दोबारा नीले रंग से रंग दिया गया है।

ये घटना बदायूं के कुंवरगांव थाना क्षेत्र के दुगरैया गांव की है। यहां बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की मूर्ति है। पिछले दिनों इसी मूर्ति के साथ शरारती तत्वों ने तोड़फोड़ की थी, जिसके बाद इलाके के लोगों ने रोष प्रकट किया था। प्रशासन ने आनन-फानन में आगरा से मंगवाकर उसी जगह पर बाबा साहेब आंबेडकर की नई मूर्ति स्थापति की थी। बीते 7 अप्रैल को इस मूर्ति को भगवा रंग में रंग दिया गया। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद एक स्थानीय निवासी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है, हालांकि आरोपी अभी फरार है।

{ यह भी पढ़ें:- बलात्कार तो भगवान राम भी नहीं रोक सकते, यह स्वाभाविक प्रदूषण है }

बदायूं के दातागंज से दो बार विधायक रह चुके पूर्व बीएसपी विधायक सिनोद शाक्य ने कहा, ‘राज्य की कई इमारतों को भगवा रंग करने के बाद अब बीजेपी सरकार आंबेडकर की मूर्तियों का भगवाकरण करना चाहती है, यह स्वीकार नहीं है।’ क्षेत्र के कुछ लोगों ने इस घटना के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया तो पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष और पूर्व विधायक प्रेमस्वरूप पाठक ने साफ तौर से कहा कि बीजेपी का इस घटना से कोई लेना देना नहीं है। बाबा साहेब आंबेडकर की मूर्ति पर भगवा रंग चढ़ाए जाने की घटना के लिए बीजेपी पर आरोप मढ़ा जाना बेबुनियाद है।

{ यह भी पढ़ें:- अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में तैनात होगी 'यूथ ब्रिगेड' }

बदायूं। यूपी में बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की मूर्तियों से छेड़छाड़ की घटनायें थम नहीं रही हैं। बदायूं जिले में बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की मूर्ति को भगवा रंग दिया गया, जिसके बाद से दलित समुदाय ने इस मामले का कडा विरोध किया है। विवाद बढ़ने पर मूर्ति को दोबारा नीले रंग से रंग दिया गया है। ये घटना बदायूं के कुंवरगांव थाना क्षेत्र के दुगरैया गांव की है। यहां बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की मूर्ति है। पिछले दिनों इसी…
Loading...