1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. भारतीय संस्कृति को विश्व भर में पहुंचा रहा है ब्रह्मकुमारी संगठन : नरहरि अमीन

भारतीय संस्कृति को विश्व भर में पहुंचा रहा है ब्रह्मकुमारी संगठन : नरहरि अमीन

भारतीय संस्कृति की साख को फिर से विश्व में कारगर तरीके से स्थापित करने के लिए ब्रह्माकुमारी संगठन की ओर से किए जा रहे प्रयास सार्थक सिद्ध हो रहे हैं। यह विचार गुजरात के पूर्व उपमुख्यमंत्री व राज्यसभा सदस्य नरहरि अमीन ने शनिवार को व्यक्त किए। नरहरि अमीन माउंटआबू प्रवास के दौरान प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय पाण्डव भवन में अपने विचार साझा कर रहे थे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

माउंटआबू। भारतीय संस्कृति की साख को फिर से विश्व में कारगर तरीके से स्थापित करने के लिए ब्रह्माकुमारी संगठन की ओर से किए जा रहे प्रयास सार्थक सिद्ध हो रहे हैं। यह विचार गुजरात के पूर्व उपमुख्यमंत्री व राज्यसभा सदस्य नरहरि अमीन ने शनिवार को व्यक्त किए। नरहरि अमीन माउंटआबू प्रवास के दौरान प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय पाण्डव भवन में अपने विचार साझा कर रहे थे।

पढ़ें :- 1983 विश्व विजेता भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य और वरिष्ठ खिलाड़ी यशपाल शर्मा नहीं रहें

उन्होंने कहा कि मजूबत मनोबल होने से किसी भी असंभव कार्य को संभव करने में कोई बड़ी से बड़ी परिस्थिति भी बाधा नहीं बन सकती। पारिवारिक एवं सामाजिक सदभाव को कायम रखने के लिए स्वयं की चेतना में निहित श्रेष्ठ भावनाओं की शक्ति को निमित भाव से कार्य में लगाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस संस्थान में चित्र के स्थान पर चरित्र, व्यक्ति के स्थान पर व्यक्तित्व की उपासना होती है जो अपने आप में अनुकरणीय है। वास्तविक अर्थों में धर्म संयम, सदाचार, शाकाहार, वसुधैव कुटुम्बकम की शिक्षा देते हुए आत्मभाव उत्पन्न करता है।  विश्वविद्यालय की सहमुख्य प्रशासिका बीके शशि बहन ने कहा कि मनोबल को बढ़ाने के लिए श्रेष्ठ विचार की खुराक बेहतर जरिया है। बीके शशि बहन ने कहा कि  जीवन में स्थाई सुख शान्ति के लिए मन का पालन पोषण श्रेष्ठ विचारों से किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत को सुखमय बनाने के लिए आध्यात्मिक संगठनों की श्रेष्ठ विचारधारा की बदौलत हर व्यक्ति के मन में समाज के सभी वर्गों के लिए कल्याणकारी भावनाओं का उदय होता है। ऐसी मनोस्थिति से ही समाज को एकता के सूत्र मेें पिरोने के कार्य को सफलतापूर्वक संपन्न किया जा सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...