1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. ब्राह्मण स्वयं कष्ट भोगते हैं, लेकिन धर्म पर नहीं आने देते आंच : CM Yogi

ब्राह्मण स्वयं कष्ट भोगते हैं, लेकिन धर्म पर नहीं आने देते आंच : CM Yogi

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ब्राह्मण परिवार का 16वां स्थापना दिवस (16th foundation day of brahmin family) समारोह आयोजित किया गया। इसको संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कहा कि जब हम ब्राह्मण की बात करते हैं तो एक संकल्पना अपने आप सबके सामने आ जाती है। ब्राह्मण का मतलब संस्कार, संस्कृति और धर्म से है। वे स्वयं कष्ट भोगते हैं लेकिन धर्म पर आंच नहीं आने देते हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में ब्राह्मण परिवार का 16वां स्थापना दिवस (16th foundation day of brahmin family) समारोह आयोजित किया गया। इसको संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कहा कि जब हम ब्राह्मण की बात करते हैं तो एक संकल्पना अपने आप सबके सामने आ जाती है। ब्राह्मण का मतलब संस्कार, संस्कृति और धर्म से है। वे स्वयं कष्ट भोगते हैं लेकिन धर्म पर आंच नहीं आने देते हैं।

पढ़ें :- सीएम योगी ने सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर क्षेत्र के पर्यटन विकास कार्याें का किया निरीक्षण

योगी ने कहा कि दुनिया में बहुत से मत-मजहब, संप्रदाय और उपासना विधियां आईं। सभी समय के अनुरूप इतिहास के कालखंड में समाहित हो गई। अगर आज सनातन धर्म जीवित रहा है। आज भी पूरी दुनिया के अंदर अपने भगवे झंडे को गोड़ कर मजबूती के साथ चल रहा है। तो इसलिए क्योकि वह ब्रह्म तत्व हमारे पास मौजूद है। जो आत्मा में सदैव विरजमान रह कर स्वयं कष्ट सहते हुए भी उसे आच नहीं आने देता है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि एक तरफ राष्ट्रनायक सरदार वल्लभभाई पटेल हैं। तो दूसरी तरफ खलनायक के रूप राष्ट्र तोड़ने वाले जिन्ना भी हैं। अगर कोई सरदार वल्लभभाई पटेल की तुलना जिन्ना से करने लग जाए तो ये वोट बैंक की निकृष्ट राजनीति होगी, जिसके लिए देश की कीमत पर राजनीति करना हो सकता है। मुख्य अतिथि रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि ब्राह्मण परिवार के मुखिया शिवशंकर अवस्थी ने लखनऊ और उत्तर प्रदेश के अन्य समाज के लोगों को जोड़ने का काम किया है। जब भी हमारे ब्राह्मण समाज की बात चलती है तो हमारे सामने इस देश की ऋषि परंपरा सामने आती है।

कार्यक्रम में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि देवों के गुणों का समावेश जिसमें होता है। वही ब्राह्मण कहलाता है। यह कोई जाति नहीं, विचारधारा है। खुद भिक्षाटन कर दूसरा को राजा बनाने वाला ब्राह्मण वर्ग रहा है। आज का दौर बदल चुका है। शीर्ष स्थानों पर आज भी इस वर्ग का दबदबा है। लोग संस्कार सीखते हैं, तो ब्राह्मण परिवार से सीखते हैं। उन्होंने कहा कि ब्राह्मणों के नाम पर तिलक-तराजू का नारे लिखने वाले ब्राह्मण सम्मेलन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 58 ब्राह्मण विधायक भाजपा के हैं। हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष से लेकर केंद्र के तमाम पदाधिकारी ब्राह्मण हैं। उन्होंने कहा कि मैं खुद कर्मकांडी ब्राह्मण के परिवार से हूं।

पढ़ें :- सीएम योगी ने देवरिया को दिया बड़ा तोहफा, 412 विकास परियोजनाओं का किया लोकार्पण व शिलान्यास
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...