1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. मां की ममता के आगे हारी मौत, खूंखार तेंदुएं को बच्ची छोड़ भागना पड़ा

मां की ममता के आगे हारी मौत, खूंखार तेंदुएं को बच्ची छोड़ भागना पड़ा

महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले से एक रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना सामने आई है। एक महिला अपनी पांच साल की बच्ची को बचाने के लिए खूंखार तेंदुए से भिड़ गई। तेंदुए के जबड़े में दबी मासूम बेटी को बचाने के लिए बहादुर मां ने केवल एक डंडे के सहारे से मुकाबला किया। मां की ममता के आगे खूंखार तेंदुए हो भी हार माननी पड़ी है। खूंखार तेंदुए को आखिरकार बच्ची को छोड़कर भागना ही पड़ गया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Brave Mother Fought With Leopard To Save Her Child

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले से एक रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना सामने आई है। एक महिला अपनी पांच साल की बच्ची को बचाने के लिए खूंखार तेंदुए से भिड़ गई। तेंदुए के जबड़े में दबी मासूम बेटी को बचाने के लिए बहादुर मां ने केवल एक डंडे के सहारे से मुकाबला किया। मां की ममता के आगे खूंखार तेंदुए हो भी हार माननी पड़ी है। खूंखार तेंदुए को आखिरकार बच्ची को छोड़कर भागना ही पड़ गया।

पढ़ें :- महाराष्ट्र: रत्नागिरी और रायगढ़ पानी ही पानी, CM उद्धव ठाकरे ने स्थिति का जायजा लेने के लिए बुलाई आपात बैठक

चंद्रपुर शहर से सटे जुनोना गांव के पास मां अर्चना मेश्राम अपनी 5 साल की बेटी प्राजक्ता के साथ गांव के पास बने नाले के करीब जंगली सब्जियां तोड़ने गई थी। सब्जियां तोड़ने के दौरान बेटी प्राजक्ता अपनी मां से थोड़ी दूरी पर खड़ी थी, तभी पहले से ही घात लगाकर बैठै तेंदुए ने अचानक बच्ची पर हमला कर दिया।

तेंदुए ने बच्ची के सिर को जबड़े में फंसा लिया था। यह देखकर मां के होश उड़ गए और उसने न केवल खुद को संभाला बल्कि वह तेंदुए से भिड़ गई। उसने पास में ही पड़ा एक डंडा उठा लिया। इसके बाद तेंदुए पर वार करना शुरू कर दिया। इस दौरान तेंदुए ने बच्ची को छोड़ महिला पर हमला कर दिया।

इसके बाद महिला किसी तरह तेंदुए के हमले से महिला ने न केवल खुद को बचाया, लेकिन तेंदुए फिर से महिला से ध्यान हटाकर बच्ची पर झपट पड़ा और उसे जबड़े में फंसाया और घसीटते हुए वहां से ले जाने लगा। इसके बाद महिला तेंदुए के पीछे पड़ गई और डंडे से उस पर लगातार वार करना शुरू कर दिया है।

महिला की इस बहादुरी के आगे तेंदुए को हार माननी पड़ी और बच्ची को वहीं छोड़ जंगल की ओर भाग गया। तेंदुए के हमले में बच्ची के चेहरे और सिर पर गहरी चोटें आई हैं।

पढ़ें :- महाराष्ट्र में भूस्खलन से चार घर गिरे, एक महिला समेत पांच लोगों की दर्दनाक मौत

मां ने अपनी बेहोश बेटी को तुरंत स्थानीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार ले गई। बच्ची की हालात गंभीर देख उसको नागपुर सरकारी अस्पताल भेजा दिया है, जहां उसका इलाज चल रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X