असम सरकार ने जारी की NRC की नई लिस्ट, 1.2 लाख से ज्यादा लोग बाहर

ncr
असम सरकार ने जारी की NRC की नई लिस्ट, 1.2 लाख से ज्यादा लोग बाहर

नई दिल्ली। असम सरकार ने नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) यानी एनआरसी में छूट पाने वाले 1 लाख से ज्यादा लोगों की सूची जारी की है। अतिरिक्त निष्कासन सूची में जिन लोगों के नाम हैं ये वह लोग हैं जिनके नाम पिछले साल 30 जुलाई को जारी राष्ट्रीय नागरिक पंजी के मसौदे में शामिल थे लेकिन बाद में वे इसके लिए अयोग्य नहीं पाए गए। इससे पहले एनआरसी का फाइनल ड्रफ्ट जारी होने पर पिछले साल राजनीतिक बवाल देखने को मिला था। इसमें राज्य के 40 लाख लोगों के नाम नहीं थे।

Breaking Assam Government Issued New List Of Nrc :

जिन लोगों को सूची से बाहर रखा गया है, उनको पत्रों के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से सूचित किया जाएगा। सूची में शामिल न होने वाले लोगों के पास 11 जुलाई तक नामित एनआरसी सेवा केंद्रों पर अपने दावे दर्ज करने का मौका होगा। एनआरसी के राज्य समन्वयक की ओर से जारी एक बयान के अनुसार सूची नागरिकता अनुसूची (नागरिकों का पंजीकरण और राष्ट्रीय पहचान पत्र के मुद्दे) नियम 2003 के खंड पांच के प्रावधानों के अनुसार प्रकाशित की गई है।

गौरतलब है कि 30 जुलाई 2018 को प्रकाशित मसौदे में 2.9 करोड़ लोगों के नाम शामिल किए गए थे। इसके लिए कुल 3.29 करोड़ लोगों ने आवेदन किया था।मसौदे में 40 लाख लोगों को छोड़ दिया गया था। असम में एनआरसी उच्चतम न्यायालय की निगरानी में अद्यतन की जा रही है और अंतिम सूची 31 जुलाई को जारी होनी है। इसे www.nrcassam.nic.in वेबसाइट पर भी देखा जा सकता है। एनआरसी ड्राफ्ट सूची पिछले साल जुलाई में जारी की गई थी।

नई दिल्ली। असम सरकार ने नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) यानी एनआरसी में छूट पाने वाले 1 लाख से ज्यादा लोगों की सूची जारी की है। अतिरिक्त निष्कासन सूची में जिन लोगों के नाम हैं ये वह लोग हैं जिनके नाम पिछले साल 30 जुलाई को जारी राष्ट्रीय नागरिक पंजी के मसौदे में शामिल थे लेकिन बाद में वे इसके लिए अयोग्य नहीं पाए गए। इससे पहले एनआरसी का फाइनल ड्रफ्ट जारी होने पर पिछले साल राजनीतिक बवाल देखने को मिला था। इसमें राज्य के 40 लाख लोगों के नाम नहीं थे। जिन लोगों को सूची से बाहर रखा गया है, उनको पत्रों के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से सूचित किया जाएगा। सूची में शामिल न होने वाले लोगों के पास 11 जुलाई तक नामित एनआरसी सेवा केंद्रों पर अपने दावे दर्ज करने का मौका होगा। एनआरसी के राज्य समन्वयक की ओर से जारी एक बयान के अनुसार सूची नागरिकता अनुसूची (नागरिकों का पंजीकरण और राष्ट्रीय पहचान पत्र के मुद्दे) नियम 2003 के खंड पांच के प्रावधानों के अनुसार प्रकाशित की गई है। गौरतलब है कि 30 जुलाई 2018 को प्रकाशित मसौदे में 2.9 करोड़ लोगों के नाम शामिल किए गए थे। इसके लिए कुल 3.29 करोड़ लोगों ने आवेदन किया था।मसौदे में 40 लाख लोगों को छोड़ दिया गया था। असम में एनआरसी उच्चतम न्यायालय की निगरानी में अद्यतन की जा रही है और अंतिम सूची 31 जुलाई को जारी होनी है। इसे www.nrcassam.nic.in वेबसाइट पर भी देखा जा सकता है। एनआरसी ड्राफ्ट सूची पिछले साल जुलाई में जारी की गई थी।