1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. वैश्विक अर्थव्यवस्था की गर्वनेन्स के बारे में ब्रिक्स सदस्य देशों का नज़रिया काफ़ी समान : PM Modi

वैश्विक अर्थव्यवस्था की गर्वनेन्स के बारे में ब्रिक्स सदस्य देशों का नज़रिया काफ़ी समान : PM Modi

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को चीन में 23 जून से आयोजित दो दिवसीय 14वां ब्रिक्स सम्मेलन को सं​बोधित कर रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था की गर्वनेन्स के बारे में हम ब्रिक्स सदस्य देशों का नज़रिया काफ़ी समान रहा है। इसलिए हमारा आपसी सहयोग वैश्विक पोस्ट कोविड रिकबरी में उपयोगी योगदान दे सकता है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को चीन में 23 जून से आयोजित दो दिवसीय 14वां ब्रिक्स सम्मेलन को सं​बोधित कर रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था की गर्वनेन्स के बारे में हम ब्रिक्स सदस्य देशों का नज़रिया काफ़ी समान रहा है। इसलिए हमारा आपसी सहयोग वैश्विक पोस्ट कोविड रिकबरी में उपयोगी योगदान दे सकता है।

पढ़ें :- Pallonji Mistry passes away : बिजनेस टाइकून पालोनजी मिस्त्री का निधन, पीएम मोदी व गडकरी ने जताया शोक

पीएम मोदी ने कहा कि ब्रिक्स यूथ समिट (BRICS Youth Summits), ब्रिक्स स्पोर्ट्स (BRICS Sports) , और हमारे नागरिक समाज संगठनों (civil society organizations) और (थिंक टैंक) think-tanks के बीच संपर्क बढ़ा कर, हमने अपना People-to-people connect भी मजबूत किया है।

पढ़ें :- कोर्ट के 'सुप्रीम' फैसले के बाद भाजपा का 'जोश हाई', सरकार बनाने की कवायद शुरू

पीएम मोदी ने कहा कि आज लगातार तीसरे वर्ष हम कोविड महामारी की चुनौतियों के बीच वर्चुअल रूप में मिल रहे हैं। हालांकि वैश्विक स्तर पर महामारी का प्रकोप पहले की तुलना में कम हुआ है, लेकिन इसके अनेक दुष्प्रभाव अभी भी वैश्विक अर्थव्यवस्था में दिखाई दे रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले सालों में हमने ब्रिक्स में कई संस्थागत सुधार किए हैं जिससे इस संगठन की प्रभावशीलता बढ़ी है। हमारी न्यू डेवलपमेंट बैंक की सदस्यता में भी वृद्धि हुई है। ऐसे कई क्षेत्र हैं जहां हमारे आपसी सहयोग से हमारे नागरिकों के जीवन को सीधा लाभ मिल रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस साल भारतीय अर्थव्यवस्था के 7.5 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है और यह इसे सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था बनाएगी। मोदी ने ब्रिक्स बिजनेस फोरम को ‘वीडियो कॉन्फ्रेंस’ के जरिए संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय डिजिटल अर्थव्यवस्था का आकार 2025 तक 1,000 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाएगा। उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूती का जिक्र करते हुए कहा कि देश में राष्ट्रीय बुनियादी ढांचा पाइपलाइन के तहत 1500 अरब डॉलर के निवेश के अवसर हैं। मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि हम इस साल वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रहने की उम्मीद कर रहे हैं, जो हमें सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था बनाएगी। उन्होंने कहा कि ‘‘नए भारत’’ में हर क्षेत्र में रूपांतरकारी बदलाव हो रहे हैं, और देश के आर्थिक सुधार का एक प्रमुख स्तंभ प्रौद्योगिकी आधारित वृद्धि है। हम हर क्षेत्र में नवाचार का समर्थन कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ब्रिक्स देशों के सम्मेलन में वर्चुअल रूप से शामिल हुए। इस बैठक की अध्यक्षता चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग कर रहे हैं। ब्रिक्स देशों की बैठक में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील के भी राष्ट्राध्यक्ष शामिल हुए।

पढ़ें :- भाजपा सांसद बोले- गांधी जी ने कराई थी सुभाष चंद्र बोस की हत्या, बढ़ा विवाद तो ये दी सफाई
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...