इस शादी की दूर-दूर तक हो रही है चर्चा, जानिए क्या है वजह

पटना: अभी तक आपने शादी तो कई तरह की देखी और सुनी होगी लेकिन बिहार में एक अनोखी शादी देखने को मिली जिसको सुनकर हर कोई हैरान है जी हाँ मुंगेर जिले में एक तो शादी बिना दहेज और समाज में मिसाल कायम करने के लिए दुल्हन ही दूल्हे के घर बारात लेकर पहुंची।




बताया जा रहा है कि मुंगेर के प्रधान श्यामदेव मिश्र ने अपने पुत्र की शादी में न सिर्फ दहेज का पूर्णत: बहिष्कार किया, बल्कि यह व्यवस्था भी कायम की कि दुल्हा बारात लेकर नहीं जाएगा, बल्कि दुल्हन बी बारात लेकर दूल्हे के घर आएगी। नारी शक्ति को सम्मान देते हुए दक्षिणेश्वर काली स्थान कासिम बाजार में एेसा नजारा देखने को मिला।




श्यामदेव मिश्र के पुत्र उद्धालक मिश्र की शादी कोलकाता हावड़ा के सुनील पाठक की पुत्री रमा भारती पाठक के साथ तय हुई। मुंगेर में शादी समारोह का आयोजन किया, जिसमें वधू पक्ष के लोग बारात शोभायात्रा निकाल कर वर पक्ष के घर पहुंचे और पूरे वैदिक विधि विधान से विवाह संपन्न कराया गया। इस दौरान वर पक्ष के लोगों ने ही वधू पक्ष का स्वागत किया।

दूसरी सबसे बड़ी बात यह रही कि इस शादी में दहेज का बहिष्कार कर एक आदर्श शादी संपन्न हुई जिसकी चर्चा दूर-दूर तक हो रही है।