ब्रिटेन कोर्ट ने माल्या को दिया आदेश, भारतीय बैंकों को अदा करो 1.81 करोड़ रुपये

vijay malya
ब्रिटेन कोर्ट ने माल्या को दिया आदेश, भारतीय बैंकों को अदा करो 1.81 करोड़ रुपये

नई दिल्ली। भारतीय बैंकों से लगभग नौ हजार करोड़ रूपए लेकर भागे उद्योगपति विजय माल्या को ब्रिटेन की अदालत में फटकार लगाई गई। अदालत ने विजय माल्या को आदेश किया कि भारतीय बैंकों को उसके कानूनी लड़ाई में हुए खर्च के एवज में दो लाख पौंड अदा करे। ये बैंक विजय माल्या से पैसे की वसूली के लिए केस लड़ रहे है।

Brieten Court Ordered Malya To Pay Rs 1 81 Crores To Indians Bank :

ब्रिटेन की एक कोर्ट के जज एंड्रयू हेनशॉ ने एक माह पहले माल्या की कई सम्पत्तियों को कुर्क करने वाले विश्वव्यापी आदेश को पलटने से भी इंकार कर दिया। कोर्ट ने भारतीय अदालत की इस व्यवस्था को की तारीफ करते हुए कहा कि भारतीय बैंक माल्या से वसूली के हकदार है।

कोर्ट ने माल्या से कहा कि वो ब्रिटेन में विश्वव्यापी कुर्की आदेश और कर्नाटक के कर्ज वसूली न्यायाधिकरण (डीआरटी) के फैसले अनुसार लागत का भुगतान करें। जानकारों की मानें तो अदालत ने माल्या को आदेश दिया कि बैंक की लागत का भुगतान किया जाए। मानक आदेश है कि अगर बैंक भुगतान की जाने वाली राशि को लेकर सहमत नहीं हुए तो अदालत इसका दोबारा आकलन करेगी।

बता दें कि अदालत द्वारा लागत का आंकलन एक अलग प्रक्रिया है जो कि विशेष जज (लागत) के समक्ष अन्य अदालती सुनवाई के दौरान किया जाता है। लेकिन इस बीच माल्या को कानूनी लागत जवाबदेही के मद में 2,00,000 पौंड का भुगतान करना ही होगा।

नई दिल्ली। भारतीय बैंकों से लगभग नौ हजार करोड़ रूपए लेकर भागे उद्योगपति विजय माल्या को ब्रिटेन की अदालत में फटकार लगाई गई। अदालत ने विजय माल्या को आदेश किया कि भारतीय बैंकों को उसके कानूनी लड़ाई में हुए खर्च के एवज में दो लाख पौंड अदा करे। ये बैंक विजय माल्या से पैसे की वसूली के लिए केस लड़ रहे है।ब्रिटेन की एक कोर्ट के जज एंड्रयू हेनशॉ ने एक माह पहले माल्या की कई सम्पत्तियों को कुर्क करने वाले विश्वव्यापी आदेश को पलटने से भी इंकार कर दिया। कोर्ट ने भारतीय अदालत की इस व्यवस्था को की तारीफ करते हुए कहा कि भारतीय बैंक माल्या से वसूली के हकदार है।कोर्ट ने माल्या से कहा कि वो ब्रिटेन में विश्वव्यापी कुर्की आदेश और कर्नाटक के कर्ज वसूली न्यायाधिकरण (डीआरटी) के फैसले अनुसार लागत का भुगतान करें। जानकारों की मानें तो अदालत ने माल्या को आदेश दिया कि बैंक की लागत का भुगतान किया जाए। मानक आदेश है कि अगर बैंक भुगतान की जाने वाली राशि को लेकर सहमत नहीं हुए तो अदालत इसका दोबारा आकलन करेगी।बता दें कि अदालत द्वारा लागत का आंकलन एक अलग प्रक्रिया है जो कि विशेष जज (लागत) के समक्ष अन्य अदालती सुनवाई के दौरान किया जाता है। लेकिन इस बीच माल्या को कानूनी लागत जवाबदेही के मद में 2,00,000 पौंड का भुगतान करना ही होगा।