ब्राइटलैंड स्कूल केस: मासूम की निशानदेही पर छात्रा से हुई पूछताछ, KGMU पहुंचे सीएम योगी

ब्राइटलैंड स्कूल केस: मासूम की निशानदेही पर छात्रा से हुई पूछताछ, KGMU पहुंचे सीएम योगी
ब्राइटलैंड स्कूल केस: मासूम की निशानदेही पर छात्रा से हुई पूछताछ, KGMU पहुंचे सीएम योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल जैसी सनसनीखेज घटना को अंजाम देने की कोशिश की गयी। इस वारदात के बाद अभिभावकों के जहन में दहशत बैठ गयी है। लखनऊ के त्रिवेणीनगर द्वितीय स्थित ब्राइटलैंड स्कूल में पहली कक्षा के छात्र रितिक(7) को स्कूल की एक छात्रा ने बाथरूम में दुपट्टे से बांधकर चाकू से कई बार घोंपा। स्कूल प्रशासन ने पहले पूरे मामले को दबाने की कोशिश की। हालांकि मामला पुलिस के संज्ञान में आने के बाद पड़ताल शुरू हुई। पुलिस ने स्कूल की प्रिंसिपल रीना मानस को भी गिरफ्तार कर लिया गया और आरोपी छात्रा की पहचान भी की जा चुकी है। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी पीड़िता छात्र रितिक का हालचाल जानने ट्रामा सेंटर पहुंचे।

ब्राइटलैंड स्कूल में मंगलवार को कक्षा सात की छात्रा ने कक्षा एक के छात्र रितिक को चाकू से हमला कर लहूलुहान कर दिया। घटना मंगलवार सुबह तब हुई जब छात्र असेम्बली के बाद अपनी क्लास में जा रहा था। छात्रा उसे बहला कर दूसरी मंजिल पर स्थित बाथरूम में ले गई। वहां दुपट्टे से उसके हाथ बांधकर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर डाले। छात्र को मरा समझ कर छात्रा बाहर से दरवाजा बंद करके चली गई। स्कूल का राउंड ले रहे सिक्योरिटी इंचार्ज अमित सिंह चौहान ने खटपट की आवाज सुनकर बाथरूम का दरवाजा खोला तो छात्र लहूलुहान पड़ा था। आननफानन में उसे ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया।

{ यह भी पढ़ें:- शराब पीने के लिए एटीएम से नही निकले पैसे, तो दोस्तों ने युवक को उतारा मौत के घाट }

गुरुवार को स्कूल के बाहर सैकड़ो अभिभावक पहुंचे। उन्होंने स्कूल के बाहर प्रदर्शन किया। अभिभावकों का कहना था कि स्कूल में एक छात्रा पूरी तैयारी के साथ पहुंची थी। चाकू लेकर उसे टॉइलट में इतनी बड़ी घटना का अंजाम दिया लेकिन स्कूल प्रशासन को कोई भनक नहीं लगी। स्कूल परिसर में चाकू लेकर छात्रा कैसे आई? क्या स्कूल प्रशासन की कोई जिम्मेदारी नहीं है? अभिभावकों ने कहा कि उन लोगों को अब अपने बच्चों की चिंता हो रही है।

पुलिस की पूछताछ में छात्रा ने किए ये खुलासे-

घायल मासूम की निशानदेही पर स्कूल की छठी क्लास की एक बच्ची से पूछताछ हुई। पुलिस का कहना है कि लखनऊ स्कूल में एक मासूम पर जानलेवा हमले के इस केस को उसने सुलझा लिया है। दावा ये है कि आरोपी लड़की पहले से भी बेमतलब झगड़ा किया करती थी। लड़की के खिलाफ शिकायत के बावजूद स्कूल के प्रिंसिपल ने एक्शन नहीं लिया। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी लड़की से पूछताछ हुई है। जिस चाकू से हमला किया गया वो घर में सब्जी काटने वाला चाकू है और बच्चे पर हमला प्रेयर के दौरान किया गया था।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ : व्यवसाई के नौकर से दिनदहाड़े नौ लाख रूपए लूटकर बदमाश हुए फरार }

बताया जा रहा है कि आरोपी छात्रा का ट्रैक रिकॉर्ड बहुत खराब रहा है। 6 महीने पहले वह अपने घर से भाग गई थी। इतना ही नहीं अपने हाथ की नस काट चुकी है। इससे पहले परीक्षा के दौरान कॉपी लेकर घर भी चली गई थी। उसने पुलिस को बताया भी कि वह स्कूल में छुट्टी कराना चाहती थी। इसलिए प्रिंसिपल से मिलने के बहाने छात्र को टॉयलेट में ले गई। वहां उसके मुंह में कपड़ा ठूंसकर उसे चाकुओं से गोद दिया।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल जैसी सनसनीखेज घटना को अंजाम देने की कोशिश की गयी। इस वारदात के बाद अभिभावकों के जहन में दहशत बैठ गयी है। लखनऊ के त्रिवेणीनगर द्वितीय स्थित ब्राइटलैंड स्कूल में पहली कक्षा के छात्र रितिक(7) को स्कूल की एक छात्रा ने बाथरूम में दुपट्टे से बांधकर चाकू से कई बार घोंपा। स्कूल प्रशासन ने पहले पूरे मामले को दबाने की कोशिश की। हालांकि मामला पुलिस के संज्ञान में…
Loading...